जिला स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेन्ट कमेटी की बैठक जिलाधिकारी की अध्यक्षता में सम्पन्न

बैठक में ओडीएफ पर दिया गया जोर
उन्नाव। जिलाधिकारी देवेंद्र कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अंतर्गत जिला स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेंट कमेटी की बैठक का आयोजन हुआ। बैठक में स्वच्छता को प्राथमिकता देते हुए जिलाधिकारी ने प्रत्येक अधिकारी को अपना-अपना कार्यालय साफ-सुथरा रखने के आदेश देते हुये सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। ग्राम पंचायतों को शौचालय निर्माण हेतु निर्मित धनराशि के सापेक्ष  एवं शौचालय की सत्यापन हेतु जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी प्रेम रंजन सिंह द्वारा समस्त विकासखंड स्तरीय अधिकारियों को बेस लाइन सर्वे के अनुसार शौचालयों की वास्तविक स्थिति का भौतिक सत्यापन कराए जाने के निर्देश दिए गए।
जिलाधिकारी ने सीएलटीएस/स्वच्छाग्रहियों के भुगतान सम्बन्धित कार्य में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि इसकी मॉनिटरिंग पूरी तरह से की जाए और प्रोत्साहन दिया जाए। मुख्य विकास अधिकारी ने सम्बन्धित को निर्देश देते हुए कहा कि कहीं भी प्लास्टिक, कूड़ा-करकट आदि को  इकट्ठा न होने दें एवं कमेटी में जितने भी सदस्य शामिल हैं सभी जन जागरूकता फैलाने का कार्य करें। जहां पर शौचालय न बने हो वहां पर बनवाए जाएं। जागरूकता कार्यक्रम को तेजी से चलाया जाए।
सीएलटीएस का कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए एवं सभी डीसी को 4-4 ब्लॉक बांटने के निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी ने नदी के किनारे वाले सभी गांव को लेखपालों द्वारा निरीक्षण करने के निर्देश दिए। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि स्वेच्छाग्रहियों का भुगतान शत-प्रतिशत कराना सुनिश्चित करें एवं प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए और कहा कि जो पहले की प्लास्टिक बची हुई है, उसको इकट्ठा करके बंद करके रख दें और नई प्लास्टिक गांव में न आने दें।
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि पूर्व में ही बैठक कर सफाई कर्मियों के
पदाधिकारियों की बैठक हुई है जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में साफ-सफाई के बारे में चर्चा की गई एवं स्वच्छता/साफ-सफाई के प्रति ब्लॉक में टीम बनाई गई हैं। उन्होंने स्कूलों की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि
सामुदायिक शौचालय के निर्माण पर तेजी लाए।
स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत जनपद में 1 जून से 31 जूलाई 2019 तक ओडीएफ की स्थिरता एवं ओडीएफ प्लस की जागरूकता हेतु प्रत्येक ग्राम पंचायत में खुले में शौच से मुक्त ग्राम पंचायत की घोषणा वाला एक बोर्ड लगाया जाए जिससे ग्रामवासियों को गर्व महसूस होने के साथ-साथ ग्राम को स्वच्छ बनाने की प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने आईईसी/प्रचार-प्रसार मद से प्राप्त धनराशि के व्यय पर विचार करते हुए कहा कि सबका भुगतान समय से करा दें। बैठक में पुलिस अधीक्षक माधव प्रसाद वर्मा, जिला पंचायत राज अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद यादव सहित संबंधित ग्राम प्रधान एवं अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।
Back to top button
E-Paper