दो दलित मजदूरों के मर्डर से थर्राया मोकामा टाल, जाँच में जुटी पुलिस

पटना । एक तरफ कोरोना संक्रमण को लेकर लोगों की ज़िंदगी बचने की जद्दोजहद चल रही है। वहीं बिहार में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिधर देखिए मौत का तांडव हो रहा है। आखिर किस वर्चस्व की लड़ाई है ये, जब खुद की ज़िंदगी ही कोरोना से ज़िंदगी की भीख मांग रही है। जी, हम बात कर रहे हैं पटना जिले के मोकामा में बेलगाम में शुक्रवार की रात अपराधियों द्वारा डबल मर्डर की वारदात को अंजाम देने की।

घटना के बारे में बताया जाता है कि मोकामा टाल के घोसवरी के मधवा खंदा में गला दबाकर और पीट-पीट कर दो महादलित युवक की नृशंस हत्या कर दी गयी है। डबल मर्डर की यह घटना मध्य रात्रि की है। इस घटना की सूचना ग्रामीणों को शनिवार सुबह मिली।

रामनगर मुसहरी निवासी देवव्रत मांझी और सोल्जर मांझी को मध्य रात्रि में बेरहमी से लाठी-डंडे से पीट-पीट कर मौत की नींद सुला दिया गया।हत्या की इस घटना के बाद महादलित समुदाय में भारी आक्रोश है। दोनो मृतक दैनिक मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करते थे। हलांकि इस हत्या के पीछे के कारणों का पता नही चल पाया है। वारदात के बाद घटनास्थल पर भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। मौके पर पहुंच कर घोसवरी पुलिस ने तफ्तीश शुरु कर दी है। वहीं इस घटना से इलाके में सनसनी फैल गई है, जबकि सूबे के पुलिस तंत्र के लिए भी यह किसी चुनौती से कम नहीं है।

Back to top button
E-Paper