शिक्षा के मंदिर में प्रिसिंपल, टीचर्स, स्टुडेंट्स बने ज़िदंगी के लुटेरे, 7 महीने लगातार किया छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म 

पुलिस ने प्रिंसिपल एक टीचर और दो छात्रों को गिरफ्तार कर लिया है. 14 आरोपी अब भी फरार हैं.

नई दिल्ली:बिहार के छपरा जिले में गैंगरेप का मामला सामने आया है.एक प्राइवेट स्कूल की छात्रा ने स्कूल के प्रिंसिपल, 2 टीचर्स और 15 छात्रों पर गैंगरेप का आरोप लगाया है. छात्रा का कहना है कि उसके साथ 7 महीने तक जबरदस्ती की गई.10वीं की छात्रा की शिकायत के बाद पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इसमें 2 छात्र एक टीचर और प्रिंसिपल शामिल हैं. छात्रा के पिता के जेल में होने के कारण लड़की ने शिकायत करने में इतने महीने लगा दिया. केस दर्ज कराने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की है. हालांकि 14 आरोपी अभी भी फरारा हैं.

पीड़ित छात्रा के पिता जेल में हैं.

उसका कहना है कि दिसंबर 2017 से उसके साथ गैंगरेप हो रहा है. पीड़िता ने 18 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है. पीड़िता ने बताया कि दिसंबर में स्कूल के टॉयलेट में कुछ छात्रों ने उसके साथ गैंगरेप किया और इसका वीडियो बना लिया. पीड़िता का कहना है कि उसे ये भी नहीं पता कि टॉयलेट में कितने लोगों ने उसके साथ जबरदस्ती की. पीड़िता का आरोप है कि इस घटना के बाद से ही उसे ब्लैकमेल किया जा रहा है और आरोपी उसके साथ गैंगरेप करते आ रहे हैं.

पीड़ित छात्रा का आरोप है कि इस घटना की शिकायत उसने प्रिंसिपल से की लेकिन मदद करने की बजाय उन्होंने भी दो टीचर्स के साथ मिलकर रेप करने लगा. छात्रा का कहना है कि पिछले 7 महीने से चलता आ रहा था. 13 वर्षीय छात्रा ने अपने पिता के साथ शुक्रवार को एकमा थाने में पहुंचकर थानेदार अनुज कुमार सिंह को जब अपनी आप बीती सुनाई. महिला थानाप्रभारी ने छात्रा को अपने साथ ले जाकर छपरा सदर अस्पताल में मेडिकल जांच करवाया. सारण एसपी हर किशोर राय ने बताया कि पीड़िता ने 18 लोगों के नाम बताए, जिनमें 15 छात्र शामिल हैं. 14 आरोपी भागे हुए हैं, लेकिन उन्हें पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है.

Back to top button
E-Paper