घर में सो रहे भाई-बहन के साथ हो गया खौफनाक कांड, मिट्टी का तेल फेंक लगा दी आग

गोरखपुर : उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के चिलुआताल के ओंकार नगर में कमरे में सो रहे भाई-बहन को शुक्रवार की भोर में जिंदा जलाया गया। कमर से ऊपर का हिस्सा जलने से बहन की हालत गंभीर है। वहीं भाई के दोनों हाथ का पंजा जल गया है। बच्चों की चीख पर कमरे में पहुंचे पिता और बड़े भाई ने तेजाब फेंकने की आशंका जताते हुए पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस की जांच में पता चला कि रोशनदान के रास्ते से मिट्टी का तेल फेंककर आग लगाई गई है। अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस जांच कर रही है।

चिलुआताल के सोनबरसा निवासी राकेश प्रसाद बिजली विभाग में लाइनमैन हैं। उन्होंने घर से थोड़ी दूर पर ओकार नगर में मकान बनवाकर परिवार के साथ वहीं रहते हैं। गुरुवार रात में उनकी 18 साल की बेटी प्रियंका और 12 साल का बेटा शिवम एक कमरे में सोए थे जबकि पत्नी पिपराइच थाना क्षेत्र के मुड़िला गांव स्थित अपनी बहन के घर गई थीं और बड़ा बेटा बिक्की बरामदे में तो पिता दूसरे कमरे में सोए थे।

शुक्रवार तड़के करीब 3.30 बजे प्रियंका की चीख सुनकर पिता और बड़ा भाई उसके कमरे में गए तो देखा की प्रियंका के कपड़े में आग लगी है। छोटा भाई उसे बचाने की कोशिश कर रहा है। उसके दोनों हाथ भी झुल गए हैं। पिता ने आग बुझाई और बेटी को लेकर तत्काल जिला अस्पताल पहुंच गए। डॉक्टर ने प्राथमिक उपचार के बाद हालत गंभीर बताकर उसे मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। मेडिकल कॉलेज न ले जाकर उसे शहर के एक नर्सिंगहोम में भर्ती कराया।

कोट 
तेजाब फेंकने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंच कर जांच कराने और डॉक्टरों से बात करने के बाद पता चला कि मिट्टी के तेल से उन्हें जलाया गया है। केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है।
शलभ माथुर, एसएसपी

Back to top button
E-Paper