न वहाँ धजारोहण हुआ न कि गई साफ सफाई….

क़ुतुब अंसारी / अशोक सोनी 
जरवल(बहराइच)।जहाँ एक ओर पूरा देश स्वतंत्रता की 72वी वर्ष गाँठ को लेकर जश्न मना रहा था सरकारी व अर्धसरकारी जगहों पर तिरंगा फहराया गया वही जरवल नगर पंचायत मे यहाँ के अधिशाषी अधिकारी संतोष कुमार चौधरी ने कस्बे के चौक स्थित पुराने पंचायत घर मे वर्षो पुरानी अशोक  की लाट पर न तो ध्वजा रोहण किया न ही उस चबूतरे को रंग रोगन करवाया न ही वहाँ साफ सफाई ही करवाई प्रतीक चिह्न की इस तरह हुई अपेक्षा को लेकर कस्बावासी तो हतप्रभ दिखाई ही दिए सभासदों मे भी काफी उबाल देखा गया।
बताते चले स्वतंत्रता दिवस के पावन पर्व पर जरवल नगर पंचायत के पुराने  कार्यालय पर ध्वजारोहण न होने से आधा दर्जन सभासदों में आक्रोश व्याप्त हो गया है।सभासदों ने डीएम से कार्रवाई की मांग की है।
जरवल नगर पंचायत का गठन सन 1988 में हुआ था।पहली बार 1988 के चुनाव में सैयद जफर मेहंदी नगर पंचायत जरवल के चेयरमैन चुने गए थे । जरवल नगर पंचायत का कार्यालय मोहल्ला चौक में बनाया गया था। यहां पर राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह अशोक की लाट पहले से स्थापित थी।
जहां राष्ट्रीय पर्वों पर ध्वजारोहण किया जाता था। दस वर्ष पूर्व नगर पंचायत जरवल का कार्यालय लखनऊ बहराइच हाईवे पर स्थित नगर पंचायत की खाली पडी जमीन बैराकाजी मोहल्ला में बनाया गया। नया नगर पंचायत कार्यालय बनने के बाद भी पुरानी नगर पंचायत कार्यालय पर भी राष्ट्रीय पर्वों पर ध्वजारोहण किया जाता रहा है । नगर पंचायत कार्यालय के पुराने जर्जर हो चुके भवन को दो वर्ष पूर्व जब गिराया गया उसी दौरान यहाँ के निकाय प्रशाशन ने राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह अशोक की लाट को भी तोडवा दिया था जिसकी खबर जब अखबारों की सुर्खियां बनी लोग आंदोलित हुए फिर जाकर क्षतिग्रस्त अशोक की लाट को नया रूप दिया गया लेकिन इस बार स्वतंत्रता के 72वे वर्षगाँठ पर जरवल के अधिशाषी अधिकारी संतोष कुमार चौधरी ने तो हद ही पार कर दी उन्होंने न तो अशोक के लाट को रंग रोगन करवाया न वहाँ कोई साफ सफाई ही करवाई घ्वजा रोहण की कौन कहे।
बताते चले पूर्व मे जब अशोक की लाट को निकाय प्रशासन ने क्षतिग्रस्त करवा दिया था और उसकी प्रमुखता से खबरों के  प्रकाशन पर जिला प्रशासन हरकत मे आ गया था।जिसपर अपरजिलाधिकारी सहित प्रशासनिक अफसरों ने मौके पर पहुंचकर राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह अशोक की लाट तोड़ने वाले पूर्व अधिषासी अधिकारी को कडी फटकार लगाते हुए वहीं स्थापित करा दिया था।तब से लगातार राष्ट्रीय पर्वों पर यहां ध्वजारोहण होता रहा। लेकिन इस बार 15 अगस्त को यहां ध्वजारोहण नहीं कराया गया।
सभासद बोले ई ओ पर देश द्रोह का लिखा जाए मुकदमा!
आक्रोशित नगर पंचायत के सभासदों  ने स्पष्ट कहा है कि प्रतीक चिह्न के हुए अपमान को वे लोग बर्दास्त नही करेगे।जिला प्रशासन तत्काल यहाँ के अधिशाषी अधिकारी संतोष कुमार चौधरी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाए।इस तरह ई ओ की हरकत को लेकर वे लोग महामहिम राज्यपाल से भी मिलेगे। सभासदों मे अफजाल अहमद, सारिफ अहमद, शकील अहमद राईनी,इबरार अहमद, जलील अहमद,सभासद प्रतिनिधि शकील खां ,चन्दन गुप्ता, मुशीर अहमद ऊर्फ बहार ने  जिलाधिकारी बहराइच से भी कार्यवाही की मांग की है।
ई ओ बोले मेरी जानकारी मे वहाँ ध्वजारोहण हुआ ही नही
जरवल।नगर पंचायत जरवल क अधिशासी अधिकारी संतोष चौधरी ने बताया कि  तीन साल से मैं यहां पर हूं। मेरी जानकारी में यहां पर कभी ध्वजारोहण नहीं हुआ है।
Back to top button
E-Paper