Bihar की धरती KGF की तरह उगलेगी सोना- खुदाई करके सरकार बाहर लाएगी सबसे बड़ी खदान !

सोने की खदान मे सोना इतना है कि पूरा बिहार मालामाल हो जाए। देश का 44 प्रतिशत गोल्ड यहां है।अब ‘बिहार के केजीएफ’ से सोना निकालने की तैयारी सरकार द्वारा की जा रही है। बिहार के जमुई जिले में सोने के बड़े भंडार है। यहां से सोना निकालने के लिए बिहार सरकार की ओर से अनुमति देने का फैसला लिया जा रहा है। बिहार के जमुई जिले में भारी मात्रा में सोना है, जहां देश का 44 प्रतिशत सोना है। आज बिहार के बारे में कुछ दिलचस्प बातें जानते है।

जमुई में 37.6 टन खनिज युक्त अयस्क सहित 222.88 मिलियन टन सोने का भंडार मौजूद है, जो देश के सोने का 44 प्रतिशत है। बिहार के जमुई जिले में करमाटिया, झाझा और सोनो में भारी मात्रा में खनिज होने के संकेत मिलते आ रहे हैं। आज से लगभग 15-16 साल पहले कोलाकाता से भी एक टीम आई थी, जिसने करमटिया में सोना होने की बात कही थी। इसके बाद लगातार जांच के बाद इसपर मुहर लगी कि वास्तव में जमुई जिले में सोने का बड़ा भंडार है।

खुदाई पर निकलने लगता था सोना : ग्रामीण बताते हैं कि साल 1982 में जमुई के बेचिरागी गांव की बंजर भूमि में सोना पाए जाने की खबर थी।पांच से दस फीट की खुदाई पर ही लोगों को स्वर्ण कण मिलने लगे थे। 1982-1986 तक भूतलवेत्ताओं के निर्देश पर करमटिया में खोदाई का कार्य चला, लेकिन अचानक कार्य बंद कर दिया गया।

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (GSI) की टीम ने जो सर्वेक्षण किया था उसके अनुसार, जमुई में 37.6 टन खनिज युक्त अयस्क सहित तकरीबन 222.88 मिलियन टन सोने का भंडार मौजूद है, जो पूरे भारत देश के सोने का 44 प्रतिशत है।बिहार में 222.885 मिलियन टन सोना धातु है, जो देश के कुल सोने के भंडार का 44 प्रतिशत है। देश में 1.4.2015 को प्राथमिक स्वर्ण अयस्क के कुल संसाधन 654.74 टन स्वर्ण धातु के साथ 501.83 मिलियन टन होने का अनुमान है। इसमें से बिहार मे 222.885 मिलियन टन सोना है।

Back to top button