बस इनती सी बात पर टोल कर्मी को उतारा मौत के घाट…

सराय थाना क्षेत्र के पटेढ़ा में एनएचआई के टोल बूथ पर शनिवार को टोल कर्मी मुकेश को कार सवार युवकों ने गोली मार दी। कर्मचारी ने वीआईपी लेन से कार ले जाने से रोका था। सहकर्मियों के सहयोग से घायल को युवक सदर अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना से आक्रोशित लोगों ने टोल प्लाजा के नजदीक ही एनएच को जामकर दिया। वही पोस्टमार्टम की तैयारी में जुटे पुलिसकर्मियों से धक्का मुक्की कर लोग शव को बिना पोस्टमार्टम कराए ही लेकर चले गए।

घटना के बारे में टोल के सहकर्मी रमेश सिंह ने बताया 

मुजफ्फरपुर की तरफ से एक लाल रंग की फोर्ड कार तेजी से आई और वीआईपी लेन से जाने की कोशिश करने लगी। जब उसे रोका गया तो वह जबरदस्ती करने लगा। वीआईपी लेन को 10 नंबर लेन भी यहां माना जाता है। यहां पर सराय थाना क्षेत्र के सरसई गांव के रहने वाले मुकेश कुमार सिंह की ड्यूटी लगी हुई थी। वीआईपी लेन से जबरदस्ती गाड़ी ले जा रहे चालक को उन्होंने रोका, लेकिन वाहन चालक मानने को तैयार नहीं थे। जबरदस्ती वीआईपी लेन से जाने को लेकर चालक हंगामा करने लगा। इसे लेकर टोलकर्मी से बकझक होने लगी। इसी बकझक में चालक ने गेट खोला और अचानक कमर से पिस्टल निकाल कर टोलकर्मी के सीने पर गोली दाग दी। गोली लगने के बाद टोलकर्मी वहीं गिर गया। दहशत फैलाने को लेकर वाहन चालक ने एक और गोली हवार में फायर की और गाड़ी लेकर हाजीपुर की तरफ फरार हो गया।

जानिए पूरा मामला 

कार पर सवार युवकों को भागते देख बाकी टोलकर्मियों ने गाड़ी पर कुर्सी, पत्थर फेंककर उसे रोकने का प्रयास किया। इससे गाड़ी के सामने और पीछे का शीशा क्षतिग्रस्त हो गया। बावजूद इसके लेकर चालक फरार होने में सफल रहे। घटना के बाद सहकर्मियों की मदद से टोलकर्मी मुकेश सिंह उर्फ़ बिहारी को सदर अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद साथ आए लोग आक्रोशित हो गए। वे सदर अस्पताल से बिना पोस्टमार्टम कराए ही शव जबरदस्ती वापस लेते गए।

Back to top button
E-Paper