10 साल के लड़के के साथ किया कुकर्म, फिर गोली मार कर चौराहे पर लटका दिया शव

नई दिल्ली: यमन में रेप के दोषियों को सरेआम ऐसी सजा दी गई कि किसी की भी रूह कांप जाएगी। 10 साल के लड़के से रेप और उसकी हत्या करने के आरोप में यमन के सैनिकों ने दोषियों को सरे आम गोली मार कर उन्हें रोड पर लटका दिया। दोषियों के हाथ में हथकड़ी थी और यमन के सैनिकों व लोगों की भीड़ ने उन्हें घेर रखा था। अथॉरिटी ने उन्हें जमीन पर लेटने के लिए कहा और उनके सिर पर बंदूक तान दी। जमीन पर लेटने के बाद यमन के सैनिकों ने उन्हें पांच गोली मारी।

जानिए क्या है पूरा मामला

दोषियों के मरे हुए शव को क्रेन से सड़क के बीच लोगों को दिखाने के लिए टांग दिया गया। यह एक तरह से उन लोगों के लिए चेतावनी थी, जो इस तरह से अपराध की सोच भी रखते हैं। यमन में मौत की सजा लीगल है और यहां दुनियाभर में सबसे ज्यादा मौत की सजा दी जाती है।

execution capital punishment death penalty

बता दें कि यमन में मौत की सजा हत्या, रेप या फिर आतंक के मामले में दी जाती है। इसके अलावा हुदूद के तहत आने वाले अपराधों में भी मौत की सजा सुनाई जाती है। वहीं अपहरण, हिंसक लूट, तस्करी जैसे मामलों में परिस्थिति को देखते हुए मौत की सजा दी जा सकती है।

गोली मारने के अतिरिक्त यमन में पत्थर मारकर, फांसी देकर और गला काट कर भी मौत की सजा दी जाती है। यमन उन चार देशों में से एक है जहां नाबालिगों को भी मौत की सजा दी जाती है। साल 2013 में मोहम्मद हाजा को यमन सरकार ने मौत की सजा सुनाई थी क्योंकि उसने एक व्याक्ति को साल 1999 में गोली मार दी थी। बता दें कि दुनियाभर में 53 ऐसे देश हैं, जहां अभी भी मौत की सजा दी जाती है।

Back to top button
E-Paper