बांदा : संगीनों के साये में शांतिपूर्वक संपन्न हुई जुमे की नमाज

कानपुर में हुए बवाल के बाद सतर्क रही जिले की पुलिस

घनी बस्तियों व मस्जिदों के पास तैनात रही भारी फोर्स

भास्कर न्यूज

बांदा। पिछले जुमे की नमाज के बाद कानपुर में हुए बवाल को लेकर यहां की पुलिस भी सजग और सतर्क रही। जिले की सभी मस्जिदों और मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में पुलिस ने पहले से ही शिकंजा कस रखा था और सुबह से जगह-जगह भारी पुलिस बल की तैनाती की गई। हालांकि पुलिस की सक्रियता के चलते जिले में किसी भी अप्रिय घटना की खबर नहीं है और जुमे की नमाज शांतिपूर्वक निपट गई।

शुक्रवार को जुमे की नमाज में मुस्लिम समुदाय के लोग मस्जिदों में एकत्र होकर नमाज अदा करते हैं, ऐसे में किसी भी गड़बड़ी की आशंका को देखते हुए पुलिस अधीक्षक अभिनंदन की अगुवाई में पुलिस ने गुरुवार की रात जिलेभर में पैदल गश्त किया और मुस्लिम धर्मगुरुओं से बात करके शांति व्यवस्था कायम रखने की अपील की। ऐतिहासिक जामा मस्जिद समेत शहर की सभी मस्जिदों व मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में खुद एसपी ने पहुंचकर व्यवस्थाएं देखीं और धर्मगुरुओं से बात की। कानपुर में पिछले जुमे की नमाज के बाद ही दंगा भड़का था और इसी को लेकर जिला पुलिस ने पहले से ही अपनी कमर कस ली थी। किसी भी गड़बड़ी की आशंका को देखते हुए समूचे प्रदेश में जुमे की नमाज काे लेकर एलर्ट के चलते सुरक्षा के लिहाज से जिले में 26 सेक्टर मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई थी। मस्जिदों के आसपास सादी वर्दी में भी पुलिस तैनात रही, जाे हर किसी पर नजर रखे रही। एडीएम उमाकांत त्रिपाठी ने बताया कि जुमे की नमाज के दौरान चप्पे चप्पे पर फोर्स तैनात किया गया है। अपर एसपी लक्ष्मी निवास मिश्रा ने बताया जिले में कुल 26 संवदेनशील स्थान चिन्हित किए गए थे जहां पुलिस बल को सुबह नौ बजे से ही तैनात कर दिया गया।  

सक्रिय रहा एलआईयू, सोशल मीडिया पर नजर

कानपुर में दंगा भड़काने में सोशल मीडिया की अहम भूमिका के चलते जुमे की नमाज के एक दिन पहले से ही पुलिस सोशल मीडिया पर अपनी कड़ी नजर बनाए रही। सोशल मीडिया पर किसी आपत्तिजनक पोस्ट या संदेश प्रसारित होने से रोकने के लिए मुस्लिम समुदाय के युवाओं से भी अपील की गई। उधर एलआईयू की टीमें भी सक्रिय रहीं और पल-पल की रिपोर्ट पर नजर बनाए रहीं।

Back to top button