MP में बसपा को तगड़ा झटका: पूर्व विधायक ऊषा चौधरी ने थामा कांग्रेस का हाथ

भोपाल।  मध्यप्रदेश में बहुजन समाज पार्टी की विधायक रहीं ऊषा चौधरी आज कांग्रेस में शामिल हो गईं।
श्रीमती चौधरी पिछली विधानसभा में सतना के रैगांव से बसपा विधायक थीं। इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। उन्होंने आज मुख्यमंत्री निवास में मुख्यमंत्री कमलनाथ की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ली। इस अवसर पर पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह भी मौजूद थे। श्रीमती चौधरी के अलावा भारतीय वन सेवा के अधिकारी रहे आजाद सिंह डबास ने भी कांग्रेस की सदस्यता ले ली।

विंध्य में कांग्रेस का हाल
बता दें कि, 15 साल बाद मध्यप्रदेश की सत्ता में वापस आई कांग्रेस का इस बार विंध्य इलाके में सबसे खराब प्रदर्शन रहा। यहां पर 30 में से मात्र 6 सीटें मिली जबकि भाजपा को 24 सीटे आई है। इस इलाके से कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता भी हार गये थे। जिनमें पूर्व प्रतिपक्ष नेता अजय सिंह (अपनी परंपरागत चुरहट सीट) एवं पूर्व प्रदेश विधानसभा के उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह (अमरपाटन सीट) शामिल हैं। वहीं अगर लोकसभा चुनाव की बात करें तो सतना, रीवा, सीधी और शहडोल सीट भाजपा के कब्जे में है।

कांग्रेस में आने का कारण
विधानसभा चुनाव के दौरान विंध्य में बसपा के खराब प्रदर्शन को लेकर बसपा सुप्रीमों पार्टी के जोनल, सेक्टर और पूर्व विधायकों सहित पार्टी के जिम्मेदार नेताओं पर ठीकरा फोड़ा है। प्रत्याशियों की हार के बाद चुनावी समीक्षा के दौरान प्रदेश प्रभारी सहित रीवा जोन के आधा दर्जन नेताओं को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। कार्रवाई के दौरान मनगवां की पूर्व विधायक शीला त्यागी, रैगांव की पूर्व विधायक ऊषा चौधरी, रीवा जोन प्रभारी देवदत्त सोनी सहित प्रदेश प्रभारी शैलेन्द्र श्रीवास्तव को पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

Back to top button
E-Paper