पश्चिम बंगाल के दही-चूड़ा मेले में भारी भीड़, गर्मी से इतने लोगों की हुई मौत

कोलकाता। उत्तर 24 परगना के पानीहाटी दही-चूड़ा मेले में दर्दनाक हादसा हुआ है। रविवार सुबह मेले में भारी भीड़ और भीषण गर्मी के चलते तीन लोगों की मौत हो गई। इनमें दो महिलाएं शामिल हैं। दो और लोग गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती हैं। हालांकि हादसे के बाद मंदिर का मुख्य द्वार बंद कर दिया गया था। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस घटना पर दुख जताया है।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया कि पानीहाटी में इस्कॉन मंदिर के चूड़ा-दही महोत्सव में भीषण गर्मी और उमस के चलते तीन लोगों की मौत हो गई है। यह अत्यंत दुखद घटना है। पुलिस कमिश्नर और जिलाधिकारी मौके पर पहुंचे हैं। वे हर तरह से मदद कर रहे हैं। मृतक परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त कर रही हूं।

उल्लेखनीय है कि कोरोना को लेकर पिछले दो साल से यह उत्सव बंद था। स्वाभाविक रूप से, इस वर्ष के आयोजन को लेकर काफी उत्साह था। मेले में सुबह से ही काफी संख्या लोग यहां आए थे। दिन चढ़ने के साथ ही गर्मी भी बढ़ती गई। मृतकों के नाम अभी पता नहीं चल पाए हैं। दो और गंभीर हालत में खरदा के बलराम अस्पताल में इलारत हैं। पुलिस कर्मी मेला परिसर को शीघ्र खाली कराने का प्रयास कर रहे हैं। विधायक निर्मल घोष भी मौके पर पहुंचे हैं।

Back to top button