विपक्ष पर पीएम मोदी का हमला, महागठबंधन पर बोल दी ऐसी बात; बुआ-बबुआ ने बंद किये अपने कान…

नई दिल्‍ली: देश में महिलाओं के खिलाफ अपराध और लिंचिंग जैसे मुद्दों पर चुप्‍पी साधने के विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा है कि वे पहले ही कह चुके हैं कि ऐसी एक भी घटना निंदनीय है. उन्‍होंने विपक्षी पार्टियों द्वारा 2019 के चुनाव के लिए महागठबंधन बनाने के प्रयासों को ज्‍यादा महत्‍व नहीं देते हुए कहा कि इसके बारे में इमना ही महत्‍वपूर्ण है कि यह चुनाव से पहले टूटता है या बाद में.

मीडिया को किया PM को दिया बयान कहा 

मीडिया  को दिए एक इंटरव्‍यू में महिला अपराध के बारे में पीएम मोदी ने पुराना बयान दोहराते हुए कहा कि वे कई बार अपना नजरिया स्‍पष्‍ट कर चुके हैं. महिलाओं के खिलाफ अपराध की एक घटना की भी निंदा की जानी चाहिए. ऐसे मामलों पर भाजपा भी अपना नजरिया पहले ही स्‍पष्‍ट कर चुकी है. उन्‍होंने कहा कि समाज में शांति के लिए हम सब को राजनीति से ऊपर उठना होगा.

कांग्रेस पर साधा मोदी ने निशाना 

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी द्वारा जीएसटी को गब्‍बर सिंह टैक्‍स नाम देने के बारे में पीएम ने कहा कि राहुल गुजरात चुनाव के दौरान ही यह तरीका अपना चुके हैं. इसके बावजूद लोगों ने उन्‍हें पसंद क्‍यों नहीं किया. अपनी सरकार पर नौकरियां नहीं देने के आरोप का खंडन करते हुए उन्‍होंने कहा कि पिछले एक साल में ही एक करोड़ से ज्‍यादा नौकरियां पैदा हुई हैं. उन्‍होंने आरोपों के सिलसिले को बंद करने की अपील भी की.

राहुल द्वारा संसद में उनसे गले मिलने ओर फिर आंख मारने को बचकाना करार देते हुए पीएम ने कहा कि आप खुद ही इसका फैसला कर सकते हैं. यदि पहली बार में आपको विश्‍वास नहीं होता, उन्‍हें आंख मारते हुए देखिए. जवाब खुद ही मिल जाएगी कि ये हरकत बचकाना थी.

राहुल पर तंज कसते हुए पीएम ने कहा कि मैं तो एक अदना सा कामदार हूं. इस देश के नामदारों के मुकाबले मैं भला कहां खड़ा हो सकता हूं. नामदारों के अपने तरीके होते हैं’ किसके साथ कैसे व्‍यवहार करें, किससे प्‍यार करें और किससे घृणा- इसका फैसला नामदार खुद करते हैं. वे यह ध्‍यान भी रखते हैं कि इन बातों का तमाशा बना सकें.

विपक्ष द्वारा महागठबंधन बनाने की कोशिशों की खिल्‍ली उड़ाते हुए पीएम ने कहा कि महागठबंधन का मतलब विकास नहीं, वंशवाद है. महत्‍वपूर्ण केवल इतना है कि विपक्षी पार्टियां चुनाव से पहले टूटती हैं या बाद में.

एनडीए के छोटे साझेदार दलों की बढ़ती निराशा को नकारते हुए पीएम ने कहा कि गठबंधन पूरी तरह मजबूत है. हाल की दो घटनाओं से इसका अंदाजा भी लगाया जा सकता है- संसद में अविश्‍वास प्रस्‍ताव और राज्‍य सभा के उपसभापति का चुनाव. दोनों ही मौकों पर उनकी सरकार को ऐसी पार्टियों का समर्थन भी मिला जो गठबंधन में शामिल नहीं हैं.

जाति-आधारित आरक्षण व्‍यवस्‍था को खत्‍म करने की चर्चाओं को नकारते हुए पीएम मोदी ने बताया कि आरक्षण को खत्‍म नहीं किया जाएगा.

Back to top button
E-Paper