खुद को बताया देवता, किया बड़ा दावा कहा-ऐसी गाय करूंगा तैयार; जो करेंगी संस्कृत और तमिल बात, देखे VIDEO

नई दिल्ली : हमेशा विवादों में रहे स्वयंघोषित बाबा (सेल्फ स्टाइल्ड गॉडमैन) नित्यानंद ने अब एक और विवादित बयान देकर फिर से चर्चा का केंद्र बन गए हैं। बता दें कि इसके पहले ही उन पर एक महिला भक्त रेप का आरोप लगा चुकी है। अब इस स्वयंघोषित बाबा ने कहा है कि वे ऐसा जादू कर सकते हैं कि बंदर, गाय और शेर जैसे जानवर संस्कृत और तमिल भाषा में बात कर सकते हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो क्लिप में नित्यानंद एक नए लुक में नजर आ रहे हैं। इस वीडियो क्लिप में वे एक श्रोता से बात कर रहे हैं और उन्हें तरह-तरह की बातें बता रहे हैं जिसके बाद वह श्रोता तालियों से उनका स्वागत कर रहा है।

वीडियो में नित्यानंद को कहते हुए सुना जा सकता है कि बंदर, गाय और शेर जैसे कई ऐसे जानवर जिनके पास हमारे जैसे शारीरिक अंग नहीं होते हैं। वे अपनी जादुई शक्ति से उनके आंतरिक अंगों का विकास कर सकते हैं जिससे वे मानव जाति जैसा व्यवहार करने में सक्षम हो सकते हैं। इतना ही नहीं नित्यानंद ने ये दावा किया है कि वे इसे वैज्ञानिक, शोध और चिकित्सकीय रूप से सिद्ध भी कर सकते हैं।

मैंने इस सॉफ्टवेयर का परीक्षण किया है

उन्होंने कहा कि उनके पास ऐसा सॉफ्टवेयर है जिसका उन्होंने परीक्षण भी किया है। उन्होंने आगे कहा कि मैंने इस सॉफ्टवेयर का परीक्षण किया है और इसके बाद ही इसकी खुलासा कर रहा हूं। मैंने बड़े आराम से इस सॉफ्टवेयर का परीक्षण किया। यह बहुत परफेक्ट तरीके से काम कर रहा था। आप इसे समझने का प्रयास करें। एक साल के भीतर मैं इसे सत्यापित करके दिखाऊंगा।

उनकी इस वक्तव्य के बाद लोगों ने खूब जोर से तालियां बजा कर उनका स्वागत किया। नित्यानंद ने वीडियो में आगे कहा है कि मैं भविष्य में बंदरों के लिए एक प्रॉपर फोनेटिक, लिंग्विस्टिक वोकल कॉर्ड बनाऊंगा। इसके अलावा शेरों और बाघों के लिए भी इसके बनाऊंगा। मैंने गायों और भैंसों के लिए भी इस सॉफ्टवेयर को बनाने का प्लान किया है। इसके बाद से ये सभी जानवर हमारी तरह ही स्पष्ट रूप से बात कर सकेंगे। इतना ही नहीं वे संस्कृत और तमिल भाषा में भी बात करेंगे।

आपको बता दें कि नित्यानंद तमिलनाडु के मदुरई अधिनम मठ के आध्यात्मिक गुरू कहे जाते हैं। उन्हें हाल ही में एक कोर्ट ने आदेश दिया था कि उन्हें मठ या किसी भी आध्यात्मिक मुख्यालय में एक साधारण मनुष्य की भांति रहना होगा। नित्यानंद को 2012 में इस मठ का प्रमुख नियुक्त किया गया था।

गौरलतब है कि 2010 में नित्यानंद को हिमाचल प्रदेश में एक रेप के आरोप के बाद गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा उन्हें एक एक्ट्रेस के साथ भी आपत्तिजनक हालत में पाया गया था।

Back to top button
E-Paper