लखनऊ गोलीकांड : खौफ में है विवेक की पत्नी, यू बयां किया अपना दर्द

लखनऊ :  ऐपल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी हत्याकांड मामले में एक ओर यूपी पुलिस का फर्जीवाड़ा लगातार सामने आ रहा है। दूसरी ओर सोशल मीडिया पर आरोपी पुलिसवाले के समर्थन में कई पोस्ट लिखी जा रही हैं। विवेक की पत्नी कल्पना ने एक टीवी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि इस सबसे वह और उनका परिवार डरा हुआ है। इस पर पुलिस और सरकार को तुरंत संज्ञान लेना चाहिए।

कल्पना ने कहा, ‘जिस तरह सोशल मीडिया पर पुलिसवाले आरोपी का साथ दे रहे हैं, उससे मेरा परिवार डरा हुआ है। हमें धमकियां दी जा रही है। यह सब बंद होना चाहिए और सरकार को इस पर संज्ञान लेना चाहिए।’ उन्होंने यह भी कहा, ‘यूपी पुलिस से मेरा परिवार डरा हुआ है। मैं खुद बहुत तकलीफ में हूं और जो लोग अपराधी का साथ दे रहे हैं, उन्हें सोचना चाहिए कि वह क्या कर रहे हैं।’

कल्पना ने कहा कि जब आरोपी सामने है तो उसे सजा देने में इतनी देर क्यों? बातों को न उलझाकर उसे जल्द से जल्द सजा दी जानी चाहिए। दूसरी ओर सोशल मीडिया में 5 अक्टूबर को काला दिवस मनाए जाने की बात हो रही है जिसमें यूपी पुलिस के सिपाही काला रिबन बांधकर आरोपी की गिरफ्तारी का विरोध करेंगे। ऐसा सोशल मीडिया पर लिखा जा रहा है।

उधर आईजी का कहना है कि अगर पुलिस की तरफ से सोशल मीडिया पर इस घटना पर अनाप-शनाप लिखा जाएगा तो उन पर कार्रवाई होगी। हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि इस मामले में यूपी पुलिस के विरोध प्रदर्शन की कई फेक तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर चलाई जा रही हैं।

जानिए, क्या थी पूरी वारदात 
बता दें कि 29 सितंबर की देर रात लखनऊ के गोमतीनगर विस्तार के पास यूपी पुलिस की गोली से ऐपल एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की मौत हो गई थी। विवेक के गाड़ी न रोकने पर ही पुलिस कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने बंदूक चलाई और जो विवेक की ठोढ़ी पर लगी और उनकी जान चली गई। ऐपल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक आईफोन की लॉन्चिंग से घर लौट रहे थे। पोस्टमॉर्टम में उनके सिर में गोली मिली थी। इस मामले में दोनों आरोपी कॉन्स्टेबल प्रशांत और संदीप को बर्खास्त कर दिया गया था। साथ ही दोनों को गिरफ्तारी के बाद शनिवार को ही जेल भेज दिया गया था।

Back to top button
E-Paper