कोर ने आईआईटी रुड़की के साथ किया एमओयू, शिक्षकों को मिलेगी सहायता

दैनिक भास्कर समाचार सेवा

रुड़की। कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग रुड़की (कोर) ने आईआईटी रुड़की के साथ एमओयू हस्ताक्षर किया है, इसके तहत विद्यार्थियों और शिक्षकों को शैक्षणिक कार्यकलापों के अलावा शोध गतिविधियों में सहायता मिलेगी। मंगलवार को प्रेसवार्ता कर आईआईटी रुड़की के प्रो. अरुण कुमार ने बताया कि 175 वर्ष पूर्ण होने पर आईआईटी रुड़की ने शैक्षणिक पार्टनरशिप के लिए विभिन्न संस्थाओं ने प्रस्ताव मांगे थे।

पांच संस्थाओं में कोर कॉलेज भी शामिल है। कोर के अध्यक्ष यूसी जैन ने कहा कि आईआईटी रुड़की के साथ एमओयू हस्ताक्षर होना गर्व की बात है। आईआईटी की टेक्निकल फैसिलिटी कोर के छात्र-छात्राओं को सीखने को मिलेगी।

एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर चारु जैन ने बताया कि 49 इंडस्ट्रीज के साथ हस्ताक्षर किए हैं, ताकि इंडस्ट्री में बनने वाले उत्पादन को लाइव टेलीकास्ट देखें। इंटर्नशिप उतनी ही जरूरी है, जितना बाद में प्लेसमेंट जरूरी होता है। एमओयू से दोनों संस्थाओं के विद्यार्थियों एवं शिक्षकों को शैक्षणिक कार्यकलापों में, शोध गतिविधियों में एवं अन्य प्रकार की गतिविधियों में सहायता प्रदान होगी।

पीएचडी छात्रों का संयुक्त मार्गदर्शन, सकाय सदस्यों को पीएचडी फेलोशिप, रिसर्च स्कॉलर्स के दौरे का प्रावधान, नवीनतम क्षेत्रों में अनुसंधान सुविधा स्थापित करने में परामर्श व अनुसंधान, अल्पकालिक पाठ्यक्रम, संयुक्त कार्यशालाएं-सम्मेलन, संस्थान में स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के लिए परामर्श और मार्गदर्शन, सहयोग से स्टार्टअप की संख्या, संयुक्त प्रस्तावों से बाहरी वित्त पोषण आदि शामिल है।

Back to top button