मौत से पहले मैसेज ने मचाया हाहाकार, सामने आयी चौका देने वाली बात…  

“उसने मुझे कमरे में बंद कर दिया है और बाहर बैठकर नज़रें बनाए हुए है. मुझे अब जाकर अपना फ़ोन वापस मिला है. मुझे अभी मदद चाहिए. क्या तुम पुलिस को बुला सकती हो? प्लीज… अगर मुमकिन हो तो तुम आ जाओ.” “मैं अभी तो नहीं आ सकती. लेकिन क्या मैं एशा को बुलाऊं? वो सबसे पास होगी. मुझे जल्दी बताओ.”

ये सारे मैसेज दिल्ली के पंचशील पार्क के अपने मकान की तीसरी मंज़िल से कूद कर जान देनेवाली एयर होस्टेस अनिसिया ने उस रोज़ दोपहर दो बजकर 56 मिनट से 3 बजकर 11 मिनट तक अपनी सहेली राखी को व्हाट्सएप पर भेजे थे. लेकिन इसके ठीक एक घंटे बाद यानी ठीक शाम को चार बजकर 12 मिनट पर अनिसिया ने अपनी सहेली को जो मैसेज भेजा, वो बेहद डरानेवाला था.

उसने लिखा

“मैं अपने-आप को ख़त्म करने जा रही हूं. मयंक ने मुझे इस हाल में पहुंचा दिया है. उसने आख़िरकार मुझे कमरे से तो बाहर निकाल दिया, लेकिन जो नुकसान उसने किया है. उसकी भरपाई नहीं हो सकती.”

और इससे पहले कि दूर बैठी राखी अपनी सहेली अनिसिया को ऐसा करने से रोक पाती, अनिसिया ने ठीक 18 मिनट बाद यानी शाम चार बजकर तीस मिनट पर तीसरी मंज़िल से छलांग लगा दी. इसके आगे जो कुछ हुआ, वो हर किसी को पता है.

अनिशिया को फ़ौरन उसके पति मयंक ने आस-पास के लोगों की मदद से उठा कर अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मुर्दा करार दे दिया. अब इस मामले में पुलिस ने अनिसिया के पति मयंक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है और ये बात भी तकरीबन साफ़ हो चुकी है कि अनिसिया ने ऊपर से कूद कर जान दी है.

लेकिन इस एयर होस्टेस की मौत को लेकर सवाल अब भी कायम है. सबसे बड़ा सवाल तो यही है कि आखिर मयंक ने अनिसिया को वो कौन सा नुकसान पहुंचाया था, जिसकी भरपाई नहीं हो सकती थी? उस रोज़ मयंक ने अनिसिया को कमरे में बंद क्यों कर दिया था? उससे उसका मोबाइल फ़ोन क्यों छीन लिया था? और दोनों के बीच लड़ाई की वजह क्या थी?

v1g63p5o

ज़ाहिर है, मामले की जांच कर रही दिल्ली की हौज़ ख़ास पुलिस को इन सवालों का जवाब ढूंढ़ना है. वैसे इस चैट से लगता तो यही है कि उस रोज़ अनिसिया मयंक की ज़्यादतियों से कुछ इतना परेशान हो चुकी थी कि उसने खुदकुशी कर ली, लेकिन अनिसिया को जाननेवालों की मानें तो वो खुदकुशी करनेवाली लड़की नहीं थी, बल्कि वो बहुत ही बुलंद इरादोंवाली और मज़बूत लड़की थी.

लेकिन ये तो रही अनिसिया की मौत से पहले अपनी सहेली के साथ हुई बातचीत का सच. अब अनिसिया के घरवालों की तरफ़ से पुलिस को पिछले महीने दी गई एक शिकायत भी सामने आई है, जिसमें उन्होंने बताया था कि उनका दामाद मयंक अनिसिया को बेहद परेशान कर रहा है और उसकी जान भी ले सकता है.

jffub72g

अनिसिया के पिता मेजर जनरल रोपिंदर सिंह बत्रा ने दिल्ली पुलिस को 27 जून को एक चिट्ठी लिख कर बताया था कि मयंक अनिसिया की जान लेकर उसे हादसा या खुदकुशी बता सकता है. ज़ाहिर है, अब जब अनिसिया की मौत हो चुकी है, तो सवाल पुलिस भी है. और पुलिस की ये जवाबदेही भी है कि वो इस चिट्ठी में लिखी गई बातों के हवाले से भी मामले की तफ्तीश करे.

Back to top button
E-Paper