आईपीएस खुदकुशी मामला : ससुर ने तोड़ी चुप्पी, बोली ऐसी बात, पुलिस महकमे में मचा हड़कंप

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर नगर जनपद में आईपीएस सुरेन्द्र दास खुदकुशी मामले में घिर रहे ससुरालियों ने उनकी मौत के बाद चुप्पी तोड़ दी है। ससुर ने आरोप लगाया कि आईपीएस सुरेन्द्र पूर्व में भी शादी कर चुके थे। बेटी से शादी के बाद उनके परिजन शादी तोड़ने के लिए भद्दे कमेंट कसते थे।

प्रदेश के चर्चित आईपीएस सुरेन्द्र दास द्वारा कानपुर में तैनाती के दौरान जहरीला पदार्थ खाने और उनकी मौत का जिम्मेदार बनाये जा रहे ससुर रावेन्द्र सिंह ने आखिरकार सोमवार को चुप्पी तोड़ दी है। उन्होंने आईपीएस दास की मौत का जिम्मेदार बेटी डा. रवीना को ठहराये जाने को बेबुनियाद बताते हुए उनके परिजनों पर ही आरोप लगा दिया। उन्होंने बताया कि शादी के बाद ससुराल गई बेटी डा. रवीना पर आईपीएस के परिजन अभद्रता के साथ भद्दे कमेंट कसते थे। दास का परिवार शादी के बाद से ही हमसे रिश्ता न रखने के समर्थन में थे जिसकी जानकारी खुद दास ने मुझे दी थी और बेटी रवीना को मेल के जरिये भी अवगत कराया था।

सुरेन्द्र के बड़े भाई नरेन्द्र दास पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह सदैव दबाव बनाते थे कि आईपीएस मेरी बेटी से रिश्ता न रखे। इसके साथ ही सबसे बड़ा आरोप लगाया कि सुरेन्द्र दास पहले भी मोनिका नाम की लड़की से शादी कर चुके थे।

बताते चलें कि कुछ ही देर बाद आईपीएस के ससुर डा. रावेन्द्र सिंह कानपुर प्रेस क्लब में वार्ता कर अपनी सफाई देने जा रहे हैं। गौरतलब है कि एसपी सिटी सुरेन्द्र दास ने पांच सितम्बर को भोर पहर करीब चार बजे अपने सरकारी आवास पर पत्नी डा. रवीना के सामने जहरीला पदार्थ खा लिया था जिसके बाद उन्हें रीजेंसी अस्पताल में जीवन रक्षक प्रणाली के साथ एक्मो मशीन के जरिये मुंबई के डाक्टरों द्वारा बचाने का भरसक प्रयास किया गया लेकिन नौ सितम्बर को 12ः19 बजे अस्पताल के सीएमएस डा. राजेश अग्रवाल ने बुलेटन जारी करते हुए मौत की पुष्टि कर दी थी जिसके बाद आईपीएस के बड़े भाई नरेन्द्र दास ने उनकी की मौत का जिम्मेदार डा. रवीना और परिजनों को ठहराया। दो दिन पूर्व ही तेरहवीं संस्कार कार्यक्रम सम्पन्न हुआ और उनके ससुर डा. रावेन्द्र ने चुप्पी तोड़ दी।

Back to top button
E-Paper