1000 बस पर बवाल : बागी विधायक अदिति सिंह को कांग्रेस ने पार्टी से किया निलंबित

लखनऊ )। उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस पार्टी में आज दूसरा बड़ा मोड़ आया, जब बस प्रबंधन मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करने पर विधायक अदिति सिंह को पार्टी की महिला विंग के महासचिव पद से हटा दिया गया।  विधायक अदिति को गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की श्रद्धांजलि कार्यक्रम में रहना था, वह अब नहीं जुड़ पाएंगी।


रायबरेली के रसूखदार परिवार से आने वाली अदिति सिंह कांग्रेस पार्टी से विधायक हैं। अदिति सिंह ने उत्तर प्रदेश में कांग्रेस द्वारा बस चलाए जाने के मामले में दो ट्वीट करते हुए कहा था कि “आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत। 1000 बसों की सूची भेजी उसमें भी आधे से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा। 297 कबाड़ बसें, 988 ऑटो रिक्शा व एंबुलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागज के यह कैसा क्रूर मजाक है। अगर कांग्रेस के पास बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र में क्यों नहीं लगाई। 


उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा कि कोटा में जब उत्तर प्रदेश के हजारों बच्चे फंसे थे, तब कहां थी यह तथाकथित बसें। कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए, बॉर्डर तक ना छोड़ पाई। तब योगी आदित्यनाथ ने रातों-रात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया। खुद राजस्थान के मुख्यमंत्री ने भी इसकी तारीफ की थी।


उत्तर प्रदेश में प्रवासी लोगों और श्रमिकों के लिए चलाई जा रही बसों को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पर्याप्त ना बताते हुए कांग्रेस की 1000 बसों को उपयोग में लेने की अनुमति मांगी थी। जिसके बाद कांग्रेस की तरफ से दी गई सूची में वाहनों के बहुत सारे नम्बर फर्जी पाए गए। 
इस बीच लखनऊ में प्रियंका के निजी सचिव संदीप और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के विरुद्ध एफआईआर हुई और अजय लल्लू गिरफ्तार किए गए। इस दौरान विधायक आदित्य सिंह ने भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की थी।

Back to top button
E-Paper