कैलाश-मानसरोवर की मुक्ति को शुरू होगा अभियान


-25, 26 जून को वृंदावन के केशव धाम में होगा चिंतन शिविर
-शिविर को सफल बनाने के लिए हुई बैठक में बांटी जिम्मेदारियां

मथुरा। भगवान शंकर के कैलाश-मानसरोवर की मुक्ति के लिए भारत तिब्बत समन्वय संघ अभियान शुरू करेगा। वर्तमान में मानसरोवर तक पहुंचने का रास्ता चीन से होकर जाता है। संघ की मंशा है कि मानसरोवर तक पहुंचने के लिए तिब्बत से होकर एक कारीडोर बनाया बनाया जाए। महामंत्री ब्रज प्रांत विजय मोहन गुप्ता ने बताया कि यह तभी संभव है जब चीन से तिब्बत को मुक्त कराया जाए। यह मानसरोवर के साथ तिब्बत की मुक्ति का भी एक अभियान है।

मंत्री ब्रज प्रांत तेजवीर सिंह एवं जिलाध्यक्ष राज कुमार खण्डेलवाल ने बताया कि वृंदावन स्थित केशव धाम में भारत तिब्बत समन्वय संघ के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक हुई है। जिसमें केंद्रीय संयोजक हेमेन्द्र तोमर, राष्ट्रीय महामन्त्री विजय मान, क्षेत्र संयोजक पश्चिमी उत्तर प्रदेश राकेश गुप्ता, विपिन जादौन प्रांत महामंत्री युवा विभाग ब्रज प्रांत अरुणा अरोड़ा मंत्री ब्रज प्रांत मंत्री ब्रज प्रांत चौधरी तेजवीर सिंह आदि मौजूद रहे। आंदोलन की प्रभावी रणनीति तैयार करने के लिए 25 व 26 जून को भारत तिब्बत समन्वय संघ का चिंतन शिविर 2022, वृंदावन में आयोजित करने का फैसला लिया गया। बैठक में तिब्बत के साथ समन्वय बना कर मानसरोवर को मुक्त कराने के लिए एक आंदोलन शुरू किए जाने पर विचार विमर्श किया गया।

Back to top button