डॉ. जीएस बाजपेई ने 200 शैय्या चिकित्सालय सहित ओयल में बने ट्रामा सेंटर का किया औचक निरीक्षण

लखीमपुर खीरी।
अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण लखनऊ मंडल लखनऊ डॉ. जीएस बाजपेई द्वारा शनिवार को 200 शैय्या चिकित्सालय सहित ओयल में बने ट्रामा सेंटर का औचक निरीक्षण किया गया। इस दौरान सीएमओ डॉ शैलेंद्र भटनागर के साथ जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ मदन लाल, एसीएमओ डॉ. बीसी पंत, एसीएमओ डॉ. अनिल कुमार गुप्ता मुख्य रूप से उपस्थित रहे। वहीं इसके बाद सीएमओ ऑफिस सभागार में एक समीक्षा बैठक की गई। जिसमें सीएमओ डॉ. शैलेंद्र भटनागर, एसीएमओ डॉ अश्वनी कुमार, एसीएमओ डॉ अनिल कुमार गुप्ता, डिप्टी सीएमओ डॉ. लालजी पासी और डिप्टी सीएमओ डॉ धनीराम भार्गव सहित आकांक्षात्मक ब्लॉकों के अधीक्षक बीपीएम और बीसीपीएम उपस्थित रहे।

200 शैय्या चिकित्सालय के औचक निरीक्षण के दौरान अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण लखनऊ मंडल डॉ. जीएस बाजपेई को तीन चिकित्सक अनुपस्थित मिले, जिन्हें कारण बताओ नोटिस देने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं इस दौरान उन्होंने समस्त अव्यवस्थाओं को तत्काल दुरुस्त करने के निर्देश दिए। एक्स-रे मशीन को पुराने जिला अस्पताल से शिफ्ट कर एमसीएच विंग में लगाने के निर्देश दिए हैं। जिससे मरीजों को दिक्कतों का सामना ना करना पड़े। इसी के साथ औषधि एवं पैथोलॉजी की जांचों की जानकारी ईडीएल पर डिस्प्ले करने के निर्देश दिए हैं। मरीजों की भीड़ और बुजुर्गों का ख्याल रखते हुए उन्होंने पांच पर्चा काउंटर बनाने के निर्देश दिए। जिसमें दो महिलाओं और दो पुरुषों सहित एक वृद्ध जनों के लिए होगा। इसके बाद उन्होंने ट्रामा सेंटर का निरीक्षण किया। सीएमएस जिला अस्पताल को तत्काल प्रभाव से फार्मासिस्ट, वार्डबॉय, स्टाफ नर्स और स्वीपर को तैनात करने के निर्देश दिए और डॉक्टर सहित सभी स्टाफ की ड्यूटी रोस्टर के हिसाब से लगाने के साथ ही ऑन कॉल डॉक्टर की सुविधा भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

रविवार छोड़कर सभी दिन खुलेंगे उपकेन्द्र- एडी

अपने औचक निरिक्षण के बाद एडी लखनऊ मंडल डॉ. जीएस बाजपेई द्वारा आकांक्षात्मक ब्लॉकों की एक समीक्षा बैठक की गई। जिसमें सीएचसी धौरहरा, रमियाबेहड़, ईसानगर, बांकेगंज के अधीक्षक, बीपीएम व बीसीपीएम शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि सभी सीएचसी पर माह में दो बार समीक्षा बैठक की जाए। वहीं जिले पर भी अधीक्षक, बीपीएम और बीसीपीएम के साथ माह में दो बार बैठक की जाए। सुपर विजन करने वाले कर्मचारियों द्वारा अपनी भ्रमण आख्या अवश्य प्रस्तुत की जाए। एएनएम के डाटा कार्य की समीक्षा और सभी कर्मचारियों के डेली वर्क डायरी बनानी जरूरी है। वहीं उन्होंने कहा कि रविवार को छोड़कर सभी 6 दिन जिले के सभी उप केंद्र खोले जाएं और प्लान के हिसाब से काम किया जाए। प्राइवेट नर्सिंग होम को भी एचएमआईएस पोर्टल से जोड़कर डेली रिपोर्ट ली जाए।

एसीएमओ ने आकांक्षात्मक ब्लॉकों के 18 इंडिकेटर की की समीक्षा

एडी लखनऊ मंडल के दौरे से ठीक पहले आकांक्षात्मक ब्लॉक धौरहरा, रमियाबेहड़, ईसानगर और बांकेगंज के अधीक्षक और बीपीएम के साथ एसीएमओ डॉ. अश्विनी कुमार ने समीक्षा की। जिसमें 18 इंडिकेटर के संकेतांकों पर चर्चा की गई और सभी स्वास्थ्य क्षेत्रों में बेहतर प्रयास कर स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर करने के निर्देश दिए गए।

Back to top button