मिर्जापुर: CCTV में कैद हुआ कस्बा चौकी इंचार्ज का कारनामा

चुनार, मिर्जापुर। व्यवसाय को लेकर उपजे दो पक्षो के बीच उपजे विवाद में एक पक्ष पर पुलिस द्वारा की गयी बदसलूकी नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है। पुलिस कार्यशैली को लेकर लोगों में आक्रोश व्याप्त है। पीडित ने मामले में कस्बा चौकी इंचार्ज सुखवीर सिंह पर सुलह कराने के नाम पर दस हजार रुपये मांगने व न देने पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

सददूपुर मोहाना निवासी जाफर खां व परिवार के ही कुछ सदस्यों के बीच व्यवसाय को लेकर विवाद चल रहा है। जिसमें कुछ दिन पूर्व एक पक्ष द्वारा पीड़ित को समझौता के लिए बुलाया गया, जहां पहुचने पर उसे मारपीट कर घायल कर दिया गया। जिससे उसके दाहिने हाथ की हथेली में लोहा जड़ित पटरें की लकड़ी टूटकर आरपार हो गया था। बहरहाल पुलिस ने मामले में काफी प्रयास के बाद एनसीआर दर्ज किया।

पीड़ित ने बताया कि शुक्रवार की शाम कस्बा चौकी इंचार्ज द्वारा फोनकर चौकी पर बुलाया गया। वहां पहुचने के बाद मामले को रफा दफा करने के नाम पर दस हजार रुपये की मांग किया जाने लगा। असमर्थता जताने पर चौकी इंचार्ज द्वारा छापडों से मारा गया और हथेली में लगे चोट को अपने हाथों से दबाकर उँगली को ऐठ दिया गया जिससे असहनीय पीड़ा हुई। चौकी इंचार्ज ने कहा कि मामले में समझौता कर लो, नही तो अन्य संगीन धाराओं में वांछित कर जेल भेज दूँगा।

जिंदगी बर्बाद हो जाएगी। पीडित ने यह भी कहा कि सीसीटीवी फुटेज की जांच करा दिया तो कस्बा चौकी इंचार्ज के कारनामों का सच सामने आ जाएगा। पीडित ने समाधान दिवस में तहरीर देकर मामले की जांचकर न्याय दिलाने की गुहार लगाया हैं। पुलिस उपाधीक्षक रामानंद राय से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि मामला मेरे संज्ञान में अभी तक नही आया। यदि आता है, तो इसकी जांच कराते हुए कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।

Back to top button