इन राशियों पर पड़ेगा असर, अशुभ प्रभाव से बचने के लिए आज करें ये खास उपाय

आज पूरा दिन पार करके देर रात 02:35 पर मंगल मकर राशि में वक्री होंगे और 27 अगस्त की शाम 07:35 तक वक्री ही रहेंगे। ज से लेकर 27 अगस्त तक इस वक्री मंगल के विभिन्न राशि वालों पर क्या प्रभाव होंगे, मंगल उनके किस स्थान पर गोचर करेंगे और मंगल की उस शुभाशुभ स्थिति में शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये और अशुभ फलों से बचने के लिये क्या उपाय करने चाहिए। जानिए आचार्य इंदु प्रकाश से।

आज ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि की वृद्धि है। आज मंगलवार का दिन है। आज सारे काम सिद्ध करने वाला रवि योग भी है। रवि योग आज सुबह 07:07 पर शुरू हुआ था और आज पूरा दिन पार करके कल सुबह 09:35 तक रहेगा। फिलहाल मंगल मकर राशि में हैं और आज पूरा दिन पार करके देर रात 02:35 पर मंगल मकर राशि में वक्री होंगे और 27 अगस्त की शाम 07:35 तक वक्री ही रहेंगे। उसके बाद मकर राशि में मार्गी हो जायेंगे और 27 अगस्त की सुबह 08:22 तक मकर राशि में ही रहेंगे।

तो आज से लेकर 27 अगस्त तक इस वक्री मंगल के विभिन्न राशि वालों पर क्या प्रभाव होंगे, मंगल उनके किस स्थान पर गोचर करेंगे और मंगल की उस शुभाशुभ स्थिति में शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये और अशुभ फलों से बचने के लिये क्या उपाय करने चाहिए। जानिए आचार्य इंदु प्रकाश से।

मेष राशि

वक्री मंगल आपके दसवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री मंगल के इस गोचर से आपको अपनी मेहनत के अनुसार करियर में सफलता मिलेगी। 27 अगस्त तक आपकी अचल सम्पत्ति में कुछ इजाफा हो सकता है। इसके अलावा आपका गृहस्थ जीवन अच्छा रहेगा और आपकी सेहत भी ठीक-ठाक रहेगी।

लेकिन 27 अगस्त तक आपको अपने घर में रखे सोने का ध्यान रखने की जरूरत है। उसे लॉकर में रखना ज्यादा बेहतर होगा। मंगल की अशुभ स्थिति से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये 27 अगस्त तक जब भी मौका मिले, किसी दृष्टिहीन की मदद जरूर करें। साथ ही घर में चूल्हे पर दूध उबालते समय ध्यान रखें कि दूध उबलकर बर्तन से बाहर न गिरे।

वृष राशि
वक्री मंगल आपके नवें स्थान पर गोचर करेंगे। नवां स्थान भाग्य का होता है। अतः वक्री मंगल के इस गोचर से आपको भाग्य का पूरा साथ मिलेगा। आपको हर तरह का सुख मिलेगा। अगर बड़े भाई का सहयोग मिले, तो आपकी किस्मत पूरी तरह से आपके फेवर में होगी। आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। इसके अलावा 27 अगस्त तक प्रशासनिक सेवाओं में कार्यरत लोगों को लाभ मिलेगा। साथ ही युद्ध संबंधी चीज़ों का बिजनेस करने वालों को भी धन लाभ होगा।

अतः मंगल की शुभ स्थिति सुनिश्चित करने के लिए भाईयों का सम्मान करें। साथ ही अपने भाई की पत्नी, यानी अपनी भाभी का आशीर्वाद लेकर उन्हें कुछ गिफ्ट करें। इससे आपको शुभ फल मिलेंगे।

mars entered capricorn on 26 june 2018

मिथुन राशि
वक्री मंगल आपके आठवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल के गोचर से जातक अस्थायी रूप से मांगलिक कहलाता है, यानी मिथुन राशि वालों आपके आठवें स्थान पर मंगल के इस गोचर से आप 27 अगस्त तक टेम्पेरेरी रूप से मांगलिक कहलायेंगे। ऐसे में अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है।

अगर हां… तो ठीक है, अन्यथा मंगल के इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए। साथ ही 27 अगस्त तक आपको अपनी सेहत का ख्याल रखना चाहिए। हालांकि आप इस दौरान अपनी मेहनत के बल पर अपने कार्यों को करने में सफल होंगे। अतः मंगल के टेम्पेरेरी मांगलिक दोष से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए आज से लेकर 27 अगस्त तक प्रतिदिन कुत्ते को रोटी डालें।

 कर्क राशि
आपके सातवें स्थान पर वक्री मंगल का यह गोचर मिथुन राशि वालों की तरह ही आपको भी 27 अगस्त तक के लिये टेम्पेरेरी रूप से मांगलिक बना देगा। क्योंकि जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को अस्थायी रूप से मांगलिक बना देता है। ऐसे में अगर आप विवाहित हैं तो आपको भी इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है।

अगर ऐसा है तो ठीक, वरन् सतर्क होकर इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए। हालांकि मंगल के इस गोचर से आपकी गणित विषय में रूचि बढ़ेगी और धार्मिक कार्यों में आपका मन लगेगा। परन्तु 27 अगस्त तक आपको अपने जीवनसाथी की तरक्की और उनकी सेहत का ख्याल जरूर रखना चाहिए। साथ ही मंगल के टेम्पेरेरी मांगलिक दोष से बचने के लिये और मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए अपनी बुआ या बहन को लाल रंग के कपड़े गिफ्ट करें और उनका आशीर्वाद लें। अगर आपकी कोई सगी बहन या बुआ नहीं है, तो रिश्ते में लगने वाली अपनी किसी बहन या बुआ को गिफ्ट कर दें।

mars entered capricorn on 26 june 2018

सिंह राशि
आपके छठे स्थान पर वक्री मंगल का यह गोचर आपको साहसी बनायेगा और आपकी कलम को आपकी ताकत बनायेगा। इस बीच आपको समाज के कुछ अच्छे लोगों से मिलने का मौका भी मिलेगा, जिसका भविष्य में आपको लाभ जरूर होगा। हालांकि 27 अगस्त तक आपको कुछ ऐसे लोग भी मिलेंगे, जो बाद में आपकी जड़ें खोदते दिखाई देंगे। ध्यान रखियेगा लालच मित्र को भी शत्रु बना सकता है। ऐसे लोगों से आपको सतर्क रहना चाहिए। साथ ही मंगल के अशुभ प्रभावों से बचने के लिये और शुभ प्रभाव सुनिश्चित करने के लिए किसी छोटी उम्र की कन्या का आशीर्वाद लेकर उसे कुछ गिफ्ट करें। इससे आपको अशुभ फलों से छुटकारा मिलेगा।

कन्या राशि
वक्री मंगल आपके पांचवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री मंगल का यह गोचर आपको हर तरह से लाभ दिलाने में मदद करेगा। इस गोचर के प्रभाव से आपके करियर को एक बेहतर दिशा मिलेगी। पढ़ाई-लिखाई में आप अपना अच्छा प्रदर्शन करेंगे। इसमें अपने गुरु का भी आपको पूरा सहयोग मिलेगा। इसके अलावा संतान के साथ आपके रिश्ते बेहतर रहेंगे। साथ ही आपके प्रेम-संबंधों में भी मजबूती आयेगी। अतः मंगल के अति शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये 27 अगस्त तक  रात को सोते समय अपने सिरहाने पर पानी रखकर सोएं और अगले दिन उस पानी को किसी पेड़-पौधे की जड़ में डाल दें। साथ ही रोज़ सुबह उठकर घर के बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद लें। इससे आपके सारे काम अपने आप बनते जायेंगे।

तुला राशि
वक्री मंगल आपके चौथे स्थान पर गोचर करेंगे। यहां आपको एक बार फिर से याद दिला दूं कि जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को मांगलिक बनाता है। अतः तुला राशि वालों चौथे स्थान पर मंगल का यह गोचर आपको 27 अगस्त तक के लिये अस्थायी रूप से मांगलिक बना देगा। ऐसे में आपको इस बात पर ध्यान देने की जरूरत है कि क्या आपके जीवनसाथी की कुंडली में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है।

अगर हां… तो ठीक है, अन्यथा सतर्क होकर आपको मंगल के इस गोचर के उपाय जरूर करने चाहिए। हालांकि मंगल के इस गोचर से आपको भूमि- भवन और वाहन का सुख मिलेगा। साथ ही माता से भी सुख-सहयोग प्राप्त होगा। तो मंगल के टेम्पेरेरी मांगलिक दोषों से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए दूध में थोड़ा-सा मीठा डालकर बरगद के पेड़ की जड़ में डालिये और दूध डालने से जो मिट्टी गिली हो, उससे अपने माथे पर तिलक लगाएं।

वृश्चिक राशि
वक्री मंगल का यह गोचर आपके तीसरे स्थान पर होगा। वक्री मंगल के इस गोचर से आपको 27 अगस्त तक किसी प्रकार का कष्ट नहीं होगा, लेकिन इस बीच आपकी तरक्की इस बात पर डिपेंड करेगी कि आप अपने भाई-बहनों के साथ कैसा व्यवहार करते हैं। क्योंकि आपके भाई-बहन ही आगे चलकर आपकी सफलता की चाबी साबित होंगे।

बाकी आपका गृहस्थ जीवन ठीक रहेगा और ससुराल पक्ष से भी लाभ मिलता रहेगा। तो मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये और अशुभ फलों से बचने के लिए एक चॉकलेटी रंग का कपड़ा लेकर किसी नाई, कसाई या दर्जी को गिफ्ट कर दें। इससे आपकी सफलता सुनिश्चित होगी।

धनु राशि
वक्री मंगल आपके दूसरे स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री मंगल के इस गोचर से आपको आर्थिक रूप से लाभ मिलेगा। 27 अगस्त तक आपके पास अन्न-धन बना रहेगा। आपको किसी प्रकार की कोई कमी नहीं होगी। ससुराल पक्ष से भी आपको आर्थिक रूप से हर तरह का लाभ मिलता रहेगा। दवाईयों, मशीनों या जासूसी के काम से जुड़े लोगों को इस दौरान विशेष लाभ मिलेगा। आप इस लाभ का फायदा अपने साथ दूसरों को लेने में भी सहयोग करेंगे और 27 अगस्त तक आप अपने करीबियों की हर संभव मदद करेंगे। इससे आपको भी भविष्य में फायदा होगा। तो मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये 27 अगस्त तक धार्मिक कार्यों में सहयोग देते रहें और भाईयों की हर संभव मदद करें।

मकर राशि
वक्री मंगल का यह गोचर आपके पहले स्थान, यानी लग्न स्थान पर होगा और जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को अस्थायी रूप से मांगलिक बना देता है। अतः आपके पहले स्थान पर मंगल का यह गोचर 27 अगस्त तक के लिये आपको अस्थायी रूप से मांगलिक बना देगा। ऐसे में अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है।

अगर हां…. तो ठीक, वरन् सतर्क होकर आपको इस गोचर के उपाय जरूर करने चाहिए। हालांकि लग्न स्थान पर मंगल के इस गोचर से आपको भरपूर यश-सम्मान मिलेगा, धन लाभ होगा और आपके प्रेम-संबंध मजबूत होंगे। साथ ही आपकी संतान को न्यायालय से लाभ मिलेगा। तो मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए और अस्थायी रूप से मांगलिक दोष से बचने के लिए मन्दिर में बेसन या चने की दाल से बनी कोई चीज़ दान करें। इससे आपके भाग्य में वृद्धि होगी और शुभ फलों की प्राप्ति होगी।

mars entered capricorn on 26 june 2018

कुंभ राशि
आपके बारहवें स्थान पर वक्री मंगल का यह गोचर मिथुन, कर्क, तुला और मकर राशि वालों की तरह आपको भी 27 अगस्त तक अस्थायी रूप से मांगलिक बना देगा। वैसे भी अब तो आप जान ही गये होंगे कि जन्मपत्रिका में पहले, चौथे, सातवें, आठवें और बारहवें घर में मंगल का गोचर जातक को मांगलिक बनाता है। अतः कुंभ राशि वालों अगर आप विवाहित हैंतो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले, चौथे, सातवें, आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर हां… तो ठीक है, अन्यथा सतर्क होकर आपको मंगल के इस गोचर के उपाय जरूर करने चाहिए। हालांकि इस दौरान आपको शैय्या सुख मिलेगा, लेकिन 27 अगस्त तक व्यर्थ के खर्चे से आपको बचना चाहिए। साथ ही मंगल के अस्थायी मांगलिक दोष से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए सूर्यदेव को नित्य रूप से जल में थोड़ा-सा मीठा मिलाकर अर्घ्य दें। साथ ही मन्दिर या किसी धर्मस्थल पर बताशे का दान करें।

मीन राशि
वक्री मंगल आपके ग्यारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री मंगल के इस गोचर से आप दूसरों के सामने अपने साहस का परिचय देंगे। न्यायिक प्रक्रियाओं में आप रुचि लेंगे और आध्यात्मिक विचारों के प्रति आपकी आस्था बढ़ेगी। 27 अगस्त तक आपको और आपके माता-पिता को आर्थिक रूप से लाभ भी मिलेगा। इसके अलावा पशुपालक और व्यापारी वर्ग को भी इस बीच कई तरह से फायदे मिलेंगे। हालांकि इस दौरान आपको अपनी सेहत का ख्याल रखने की आवश्यकता है। तो मंगल के अशुभ फलों से बचने के लिये और शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए अगर आपके लिये संभव हो तो 27 अगस्त तक घर में कुत्ता पालें अन्यथा रोज़ कुत्ते को रोटी डालें।

Back to top button
E-Paper