यूपी : दबंगों ने घर में घुसकर बच्चों व महिलाओं को पीटा, 9 लोग घायल, दो महिलाओं की हालत गंभीर

-मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी को अस्पताल में कराया भर्ती दो महिलाओं की हालत गंभीर

-ग्रामीणों ने पुलिस पर पीड़ित परिवार को भला बुरा करने का भी लगाया आरोप

जौनपुर । सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के पोटरिया गांव में पुरानी रंजिश के चलते रविवार रात दबंगों ने आधा दर्जन बाहरी लोगों की सह पर आलमगीर व इसरार अहमद के घर पर हमला बोल दिया। घुसकर में घुसकर बच्चों,महिलाओं पर लाठी-डंडा, रॉड से जानलेवा हमला किया। महिलाएं अचेत होकर गिर पड़ीं, फिर भी मनबढ़ उन्हें पीटते रहे। तोड़फोड़ कर सामान क्षतिग्रस्त कर दिया।

घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गांव में रविवार की देर रात दबंगों ने आधा दर्जन बाहरी बदमाशों के साथ इशरार अहमद अंसारी व आलमगीर अंसारी के घर पर करीब आधे घंटे अराजकता का नग्न तांडव किया। पुरुषों, बच्चों व महिलाओं की बर्बरतापूर्ण पिटाई की। इशरार अहमद व उनकी पत्नी किताबुन निशाँ,बेटे अंसार अहमद, शमशेर, फुरकान, अबु सहमा पुत्र अनसार अहमद व हकीकुन निशा पत्नी शमशेर,आलमगीर के बेटे सहबान बेटी नाजरीन को पीटकर लहूलुहान कर दिया।महिलाएं मूर्छित होकर गिर पड़ीं फिर भी मनबढ़ उन्हें लाठी से पीटते रहे।

हमलावार के परिवार की महिलाएं बाहरी बदमाशों की पहचान छुपाने के लिए पीड़ित परिवार के लोगों की आंख में लाल मिर्च का पाउडर फेंक रही थीं। ग्रामीणों की सूचना पर एसएचओ संजीव मिश्र ने हल्का दरोगा राम सुंदर व सिपाही को तत्काल मौके पर भेजा। घर पहुंचे दरोगा ने पीड़ित पक्ष की महिलाओं को नाटक करने का आरोप लगाते हुए भद्दी-भद्दी गलियां शुरू कर दिया।

एसएचओ ने दरोगा से घायलों को अस्पताल ले जाने को कहा। वहीं लिखा पढ़ी के नाम पर दरोगा घायलों को घंटे भर थाने के बाहर रोके रखा गया। इस दौरान जख्मी महिलाएं बच्चे दर्द से कराह रहे थे। काफी देर बाद उन्हें उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र करंजाकला भेजा गया। जहां चिकित्सकों ने किताबुन निशा व हकीकुन निशा की हालत गंभीर देखते हुए जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया। दरोगा के एक पक्षीय रवैये से ग्रामीणों में गुस्सा है।

घटना के संबंध में थानाध्यक्ष संजय मिश्रा ने बताया कि मामले की जानकारी होते ही घटनास्थल पर पुलिस को भेजा गया था, साथ ही घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भर्ती कराया गया। कुछ की हालत गंभीर थी जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पीड़ित पक्ष द्वारा तहरीर दिया गया है। मामले की जांच पड़ताल की जा रही है जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। घटनास्थल पर पीड़ित परिवार को दरोगा द्वारा भला बुरा कहने की बात पर कहा इसकी भी जांच कराई जाएगी, यदि सही पाया गया तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Back to top button
E-Paper