जुमें की नमाज के बाद पुरदिलनगर में हुआ बवाल, पथराव, लाठीचार्ज

असामाजिक तत्वों ने की शहर की फिज़ा ख़राब करने की कोशिश

दैनिक भास्कर/संदीप पुण्ढ़ीर
हाथरस। देश के चर्चित प्रकरण नुपुर शर्मा के विवादित बयान को लेकर मुस्लिम समाज में व्याप्त रोस के चलते हाथरस में आज जुमे की नमाज के बाद कुछ असामाजिक तत्वों के कारण दहशत पैदा करने की नाकामयाब कोशिश की गई। कुछ लोगों द्वारा पत्थरबाज़ी भी की गई। वहीं मामले को बढ़ता देख पुलिस ने उपद्रवियों पर जमकर लाठी फटकारी और माहौल को शांत किया। जिले के आला अधिकारियों ने भी मौके पर पंहुचकर निरीक्षण किया और असमाजिक तत्वों पर कडी कार्यवाही करने की बात कही।
पूरा प्रदेश शुक्रवार की नमाज को लेकर अर्लट पर था। हाथरस जनपद में भी प्रशासन चौकन्नी नजर के साथ सतर्कता बरत रहा था। जनपद भर में शान्तिपूर्ण माहौल में नमाज अता भी हो गयी। पर आधे घंटे बाद सिकंदराराव कोतवाली क्षेत्र के कस्बा पुरदिलनगर में मुस्लिम समुदाय के लोगों का जत्था नुपुर शर्मा का पुतला लेकर नारेबाजी करते हुये दिखा तो पुलिस प्रशासन ने उन्हें रोका।
पुलिस के मना करने के बाद भी अंबेडकर तिराहे पर पुतला फूंक दिया गया। इस बीच तहसील स्तर के पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी सीओ, एसडीएम अंबेडकर तिराहे पर पहुंच गए। उन्होंने माइक निकालकर भीड को वापस चले जाने को कहा। पुतला फूंककर लोग नगर पंचायत भवन के सामने खडे होकर नारेबाजी करने लगे। पहले पुलिस एवं प्रदर्शनकारियों में मुंहवाद हुआ इसी बीच किसी ने पुलिस पर पथराव कर दिया जिसके बाद स्थिति को संभालने के लिए प्रर्दशन कारियों को पुलिस ने लठियाना शुरु कर दिया। और लाठी चार्ज कर भीड को खदेड दिया। लोग इधर – उधर भागने लगे। मुस्लिम समाज के लोग इस्लामनगर मस्जिद से एकत्रित होकर जुलूस निकाल रहे थे।
मामले में पुलिस ने कुल आठ लोगों को हिरासत में लिया है और इस घटना में पुलिस कर्मियों के अलावा जनता की तरफ से भी कई लोग घायल हुए हैं। घटना का डीआईजी, डीएम, एडीएम समेत आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंच निरीक्षण किया है। अब मुस्लिम समाज के पथराव करने वाले लोगों के खिलाफ रिपोर्ट की तैयारी की जा रही है ।
घटना के संदर्भ में डीआईजी दीपक कुमार का कहना है कि 40 – 50 लोग इसमें शामिल हैं। इनके खिलाफ कानूनी कार्यवाई की जा रही है। बिना परमीशन के जुलूस क्यों निकाला गया।
फिलहाल उच्चाधिकारी गणों सहित पर्याप्त पुलिस बल मौके पर मौजूद है। और कानून व शान्ति व्यवस्था की स्थिति सामान्य है।

Back to top button