योगी सरकार की सखी योजना के बारे में यहां जानिए सब कुछ, पढ़े पोस्ट और लीजिये पूरी जानकारी

महिलाओं को रोजगार मुहैया कराने के लिए उत्‍तर प्रदेश सरकार ने बीसी (बैंकिंग करेस्‍पॉन्‍डेंट) सखी योजना शुरू की है. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने हाल ही में इस स्‍कीम का एलान किया है. इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में बैंकिंग सेवाएं पहुंचाने के लिए सखी (बैंकिंग करेस्‍पॉन्‍डेंट) की तैनाती की जाएगी. शुरू में ऐसी 58,000 सखी को लगाया जाएगा. पैसे का लेनदेन कराने पर इन्‍हें कमीशन मिलेगा. आइए, यहां इस योजना से जुड़ी तमाम बातों का जानते हैं.

कब हुआ एलान?
मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने 22 मई 2020 को इस स्‍कीम का एलान किया था. इस योजना के तहत गांव की महिलाएं बैंकों से जुड़कर पैसों का लेनदेन घर-घर जाकर करवाएंगी. यह लेनदेन डिजिटल होगा. 

किसे मिलेगा लाभ?
इस स्‍कीम का लाभ उत्‍तर प्रदेश के गांवों में रहने वाली महिलाओं को होगा. ये महिलाएं गांवों में लोगों को बैंकिंग सुविधाएं उपलब्‍ध कराएंगी. इन पर गांव के लोगों को बैंकिंग के लिए जागरूक करने की भी जिम्‍मेदारी होगी. ये घर पर ही ग्रामीण बैंकों का काम भी निपटाएंगी.

कितनी मिलेगी सैलरी?
योजना के तहत चुनी गई महिलाओं को 6 महीने तक प्रति माह 4,000 रुपये की सैलरी मिलेगी. इसके अलावा लोगों को बैंकिंग ट्रांजेक्‍शन कराने के लिए इन्‍हें कमीशन भी मिलेगा. यह कमीशन ट्रांजेक्‍शन से जुड़ा होगा.

डिजिटल उपकरण का खर्च कौन उठाएगा?
चूंकि योजना के तहत सखी गांव वालों को डिजिटल माध्‍यम से सेवाएं देंगी. इसलिए इन्‍हें डिजिटल डिवाइस भी उपलब्‍ध कराए जाएंगे. इस तरह के डिजिटल डिवाइस खरीदने के लिए सरकार 50,000 रुपये की आर्थिक मदद देगी.

कैसे किया जा सकता है आवेदन?
इस योजना के लिए अभी आवेदन खुले नहीं हैं. जल्‍द ही इस बारे में सरकार विस्‍तृत जानकारी उपलब्‍ध कराएगी.

Back to top button
E-Paper