एक लाख के इनामी हिस्ट्रीशीटर ने घर में घुसकर लॉ के स्टूडेंट को गोलियों से भूना

2 बीघा जमीन को लेकर घटना को दिया अंजाम परिजनों ने नामजद मुकदमा दर्ज किया

भास्कर समाचार सेवा

मेरठ। एक लाख के इनामी बदमाश हिस्ट्रीशीटर ने अपने ही गांव में लॉ के स्टूडेंट को गोलियों से छलनी कर दिया। घटना जमीनी रंजिश में अंजाम दी गई। घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना को अंजाम देकर हिस्ट्रीशीटर अपने साथियों के साथ फरार हो गया। कंकरखेड़ा थाने में नामजद मुकदमा दर्ज कराया गया है। 

घटना शुक्रवार को थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र के पावली खुर्द में हुई। पराग पुत्र निरंकार (24 वर्ष) लॉ की पढ़ाई कर रहा था। पराग की बहन ने बताया, तीन हमलावर पहले घर आए और पराग को देखकर चले गए। 10 मिनट बाद वापस आए और आते ही घर में घुसकर फायरिंग शुरू कर दी। पराग ने कमरे में घुसकर अपनी जान बचाने का प्रयास किया तो हमलावरों ने उसे घेरकर गोलियों से भून डाला। पराग को मरा हुआ समझकर बदमाश फरार हो गए। घटना के समय पराग का दूसरा भाई मयंक भी घर पर था, जैसे ही फायरिंग हुई वह दीवार कूदकर फरार हो गया। पराग के पिता निरंकार ने बताया, घटना के वक्त वह मंदिर गए हुए थे। घटना की जानकारी पाकर सीओ दौराला आशीष कुमार, एसएचओ सुबोध कुमार मौके पर पहुंचे। पुलिस ने 10 खोखे घटनास्थल से बरामद किए। पराग के हाथ, कंधे, पेट, गर्दन तक में गोली लगी हुई मिली। पुलिस ने गंभीर अवस्था में घायल को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। निरंकार की ओर सनी काकरान को नामजद करते हुए मुक़दमा दर्ज कराया गया है।

आरोपी कई बार दे चुका था धमकी

सामने आया कि सनी काकरान का मकान कंकरखेड़ा पुलिस ने कुर्क किया था। उसकी मां उषा भी जेल गई थी। जब सनी जेल में बंद था, तब पराग की बुआ दक्षिता के नाम दो बीघा जमीन निरंकार ने कर दी थी। सनी का परिवार उस जमीन को वापस मांग रहा था। कई बार धमकी भी दी थी और पहले भी हमला हो चुका था। 

5 माह से पीछे पड़ी हुई थी एसटीएफ

सनी काकरान की 19 अप्रैल 2022 में पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर खोली थी। उस पर एक लाख का इनाम है और 28 से ज्यादा केस उस पर चल रहे हैं। यूपी, हरियाणा, दिल्ली में कई अपराधिक मुकदमे दर्ज है। यही नहीं हरियाणा में दरोगा को भी गोली मारने का आरोप सनी काकरान पर है। 5 माह से उसके पीछे एसटीएफ पड़ी थी। सनी शुक्रवार को अपने गांव आया और हत्या को अंजाम देकर फरार हो गया लेकिन, एसटीएफ को भनक तक नहीं लगी।

ये बोले एसएसपी

हिस्ट्रीशीटर सनी काकरान ने अपने तीन साथियों के साथ घटना को अंजाम दिया है। शुरुआती जांच में जमीनी रंजिश के कारण उक्त घटना हुई है। जमीन सस्ते दामों में बेच दी गई थी, जिसको लेकर रंजिश चली आ रही थी। तहरीर मिलने के बाद पुलिस आगे की कार्यवाही करेगी।

Back to top button