विदेशी महिला के साथ वर्दीवालों की हैवानियत, बुलाया मुख्यालय और कर डाला बलात्कार..

महिला को पुलिस मुख्यालय में बुलाकर अफसरों ने किया रेप, मिली सजा

कुछ खबरें ऐसी होती हैं, जिन पर भरोसा करना नामुमकिन सरीखा होता है. ज्यादातर ऐसी खबरें रिश्तों को शर्मसार करने वाली होती हैं, जिनके बारे में जानकर सबका सिर शर्म से झुक जाता है. इस खौफनाक मामला ने लोगो को होश उड़ा दिए. आज जिस मामले की बात हम आपको बताते जा रहे इस  मामले ने  रिश्तो की मन मरियादयो को कलंकित कर दिया.  बताते चले  फ्रांस की राजधानी पेरिस में आज बलात्कार के मामले में कोर्ट ने पुलिस के अधिकारियों को सजा सुनाई है। दरअसल इन अफसरों पर आरोप है कि एक विदेशी पर्यटक को पुलिस हेडक्वार्टर बुलाकर सामूहिक गैंगरेप किया। इन आरोपी पुलिस अफसरों का नाम 40 के एन्टोइन कुइरीन और 49 साल के निकोलस रिडोएन है। इन आरोपी पुलिस के अफसरों को कोर्ट ने 7 साल की सजा सुनाई है।

यह है पूरा मामला

कनाडा की रहने वाली टूरिस्ट ने आरोप लगाया था कि अप्रैल 2014 में उसके साथ गैंग रेप किया गया। मामले को लेकर एमिली स्पैन्टन ने अपनी पहचान भी उजागर करने का फैसला किया था। शाम को एक आयरिश बार में मिलने और शराब पीने के बाद पुलिस अफसर महिला को हेडक्वार्टर लेकर आए थे। लेकिन महिला का कहना है कि पुलिस मुख्यालय के 5वें फ्लोर पर पहुंचते ही अफसरों का व्यवहार बदल गया।

महिला को एक ग्लास व्हिस्की दी गई और जबरन संबंध बनाने पर मजबूर किया गया। इसके बाद कई बार उसके साथ रेप किया गया। शुरुआत में अफसरों ने कहा था कि महिला ने संबंध बनाने के लिए सहमति दी थी। महिला ने कहा था कि घटना के वक्त वह काफी नशे में थी। 80 मिनट बाद वह रोती हुई बिल्डिंग से बाहर निकली। मुख्यालय के गेट पर तैनात एक पुलिसकर्मी को महिला ने कहा- उन्होंने मेरा रेप किया है। 40 के एन्टोइन कुइरीन और 49 साल के निकोलस रिडोएन को कोर्ट ने दोषी माना। जांच के दौरान यह भी पता चला कि अफसरों ने सबूत मिटाने की कोशिश की है। महिला के अंडरवियर पर अफसर का डीएनए मिला था।

 

Back to top button
E-Paper