सीतापुर : डीएम की अध्यक्षता में पंचायत अधिकारियों की बैठक हुई सम्पन्न

सीतापुर। जिलाधिकारी अनुज सिंह की अध्यक्षता में बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद के 10 विकास खण्डों में तैनात ग्राम विकास अधिकारियों/ग्राम पंचायत अधिकारियों के साथ बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने सभी ग्राम विकास अधिकारियोंध्ग्राम पंचायत अधिकारियों को प्रेरित करते हुए कहा कि लाभार्थीपरक योजनओं का बेहतर क्रियान्वयन सुनिश्चित कराते हुए सभी पात्रों को लाभान्वित किया जाये।

कोई भी पात्र व्यक्ति लाभ पाने से छूटना नहीं चाहिये। उन्होनें सभी गांवों में ग्राम शिक्षा समिति, ग्राम स्वास्थ्य समिति एवं ग्राम निर्माण समिति की निर्धारित रोस्टर के अनुसार त्रैमासिक बैठक कराकर अनुपालन आख्या प्रेषित करने के निर्देश भी दिये। परिषदीय विद्यालयों एवं आंगनबाडी केन्द्रों का कायाकल्प कराये जाने के निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि खराब हैण्डपम्पों को तत्काल ठीक कराया जाये।

जल जीवन मिशन के कार्यो की गुणवत्ता नियमित रूप से देखने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि विभिन्न पेंशन योजनाओं के अन्तर्गत पात्रों को योजना के विषय में जानकारी देते हुए लाभान्वित किया जाये। लाभार्थीपरक योजनाओं से सभी पात्रों को समय से लाभान्वित किया जाये। उन्होने कहा कि लापरवाही करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

जिलाधिकारी ने कड़े निर्देश दिये कि सभी ग्राम विकास अधिकारीध्ग्राम पंचायत अधिकारी निर्धारित समय पर गांव में उपस्थित रहे एवं कार्यों को समयबद्ध रूप से निस्तारित करें। जिलाधिकारी ने यह निर्देश भी दिये कि रोस्टर की वाल पेंटिंग कराते हुये उस पर समस्त संबंधित अधिकारियों के फोन नम्बर दर्ज कराये जायें। साथ ही कन्ट्रोल रूम का फोन नम्बर भी प्रदर्शित कराया जाये।

ई-डिस्ट्रिक सेवाओं की आख्या समय से दर्ज किये जाने एवं परिवार रजिस्टर की नकल निर्धारित समयावधि में उपलब्ध कराने के निर्देश भी जिलाधिकारी ने दिये। बाढ़ प्रभावित गांवों में हैण्डपम्पों का उच्चीकरण कराये जाने तथा महत्वपूर्ण स्थानों पर सोलर लगाये जाने के निर्देश दिये। साथ ही बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में शौचालय, अन्त्योदय कार्ड, आवास गाइडलाइन के अनुसार पात्रों को दिये जाने हेतु निर्देशित किया।

मनरेगा योजना के अन्तर्गत प्रत्येक गांव में दो अमृत सरोवर का निर्माण कराये जाने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिये। उन्होंने कहा कि प्रत्येक गांव के कम से कम एक तालाब में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। वृक्षारोपण हेतु सभी तैयारियां समय से पूर्ण की जाये। गौशालाओं में व्यापक स्तर पर वृक्षारोपण कराया जाये। गौशालाओं में आवश्यक प्रबंध कराते हुये रिवेन्यू शेयरिंग माडल के आधार समस्त प्रबंधन कराये जाये एवं रजिस्टर अद्यतन रखा जाये।

उन्होंने सभी को जनता से अच्छा व्यवहार किये जाने के निर्देश देते हुये कहा कि पंचायत घर ठीक कराते हुये उनमें आवश्यक प्रबंध किये जायें। जनपद स्तर से दिये गये निर्देशों को गम्भीरता से लेते हुये कार्यों को पूर्ण किये जाने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिये।

बैठक के दौरान जिला विकास अधिकारी राकेश कुमार पाण्डेय ने जल जीवन मिशन के विषय में विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुये बताया कि मिशन के अन्तर्गत जनपद की समस्त ग्राम पंचायतों को संतृप्त किया जाना प्रस्तावित है। बैठक के दौरान जिला बेसिक शिक्षा अजीत कुमार ने सभी को आपरेशन कायाकल्प के विषय में अवगत कराया कि शासनादेश के अनुसार आपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत परिषदीय विद्यालयों को 19 पैरामीटर से संतृप्त किया जाना है।

जिला पंचायत राज अधिकारी ने मनोज कुमार ने गांव में कराये जा रहे निर्माण कार्यों को अधिक उपयोगी बनाये जाने, लोगों को स्वच्छ आदतें अपनाये जाने हेतु प्रेरित करने आदि के विषय में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 प्रभात कुमार ने गौशालाओं में आवश्यक प्रबंध के विषय में जानकारी दी। डी0सी0 मनरेगा ने मनरेगा के अन्तर्गत अनुमन्य कार्यों की जानकारी देते हुये पशुओं के लिये चारे के रूप के प्रयोग होने वाले अजोला के उत्पादन के विषय में जानकारी दी।

बैठक के दौरान जिला विकास अधिकारी राकेश कुमार पाण्डेय, उपायुक्त श्रम एवं रोजगार सुशील कुमार श्रीवास्तव, बेसिक शिक्षा अधिकारी अजीत कुमार, जिला पंचायत राज अधिकारी मनोज कुमार, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 प्रभात कुमार सिंह सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहें।

Back to top button