किराना व्यवसाई के छः वर्षीय मासूम बच्चे को अगवा कर हत्यारो ने कर दी नृशंश हत्या

घटना स्थल पर एस पी समेत सी ओ व भारी पुलिस बल,फारेंसिस टीम ने शव को कब्जे मे कर पी एम के लिए भेजा
जाँच मे जुटी पुलिस खुलासे के लिए गठित हुई टीम परिजनों का रो रो कर बुरा हाल
क़ुतुब अंसारी 
जरवल ( बहराइच ) जरवल रोड थाना अन्तर्गत जरवल कस्बे के भीड़भाड़ इलाके के चौक बाजार मे मंगलवार को एक किराना व्यापारी के छः वर्षीय मासूम बच्चे का घर बाहर से रहस्यमय तरीके से गायब हो जाना फिर दूसरे दिन भोर पहर उसकी उसके ही घर के पास एक खण्डहर नुमा हाते मे कूड़े की ढ़ेर मे डस्टबिन नुमा प्लास्टिक के एक डिब्बे मे रोंगटे खड़े कर देने वाली उसकी लाश ने लोगो का दिल दहला दिया जिसकी सूचना मृतक के परिवारीजनों ने बच्चे के अपहरण होने की सूचना जरवल रोड थाने पर दी।
पिता की तहरीर पर पुलिस ने देर रात अज्ञात के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी थी। पुलिस टीम ने देर रात कई घरों में छापेमारी कर बालक के बरामदगी की कोशिश  की थी, लेकिन कोई सुराग नहीं मिल सका था।बुद्धवार को सुबह पास के एक खण्हर  में डस्टबिन में बालक का शव मिलने से हड़कंप मच गया।बच्चे के शव के साथ गेंद भी उसके साथ निकला सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेने की कोशिश की, तो परिजनों ने पुलिस से हत्या की आशंका जताते हुए उच्चाधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग करने लगे ।सूचना पर पुलिस कप्तान ने फॉरेंसिक टीम मे रंजना, ऋषि कुमार व सूर्य प्रकाश के साथ घटना स्थल पर पहुंचकर जांच पड़ताल शुरू कर दी है, और जल्द ही घटना के खुलासे के निर्देश दिए हैं।
बताया जा रहा है कि जरवलरोड थानाक्षेत्र के जरवल नगर पंचायत के मोहल्ला चौक निवासी आर्य समाज के मन्त्री विवेक कुमार गुप्ता का छः वर्षीय पुत्र आर्य कुमार उर्फ शिवा जी गुप्ता मंगलवार को दोपहर करीब 12:00 बजे घर के बाहर से कहीं गायब हो गया था ।काफी खोजबीन करने के बाद जब लड़के के बारे में कुछ पता नहीं चला तो परिजनों ने देर शाम सूचना जरवलरोड पुलिस को देकर अज्ञात के विरुद्ध अपहरण का मुकदमा दर्ज करा दिया था।मुकदमा दर्ज होने के बाद हरकत मे आयी पुलिस ने रात में कई घरों में छापेमारी कर लड़के को बरामद करने  की कोशिश की, लेकिन वह नाकाम रही।
बुधवार की सुबह करीब6:00 बजे एक खण्हर प्लॉट में डस्टबिन मे बच्चे की लाश पड़ी दिखाई दी। पड़ोसी की सूचना पर घर वालों ने मौके पर पहुंचकर देखा तो बच्चे की लाश डस्टबिन में पड़ी हुई थी। घरवालों की सूचना पर पहुंची जरवलरोड पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की और शव को कब्जे में लेने लगे, तभी  घर वालों ने  बच्चे की हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस के बड़े अफसर को मौके पर बुलाने की मांग करने लगे। सूचना पर पुलिस कप्तान डॉक्टर गौरव ग्रोवर ने फॉरेंसिक टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर बारीकी से निरीक्षण किया  और परिजनों से मिलकर शीघ्र ही खुलासे का आश्वासन दिया। कप्तान ने मौके पर मौजूद सीओ कैसरगंज त्रिवेणी प्रसाद द्विवेदी,जरवलरोड इंस्पेक्टर ब्रजेन्द्र पटेल को खुलासे का निर्देश दिए । मीडिया से वार्ता करते हुए पुलिस कप्तान ने बताया कि परिजनों और अन्य लोगों से कुछ जानकारियां मिली हैं, जिसके आधार पर पुलिस टीम को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।
*हत्यारो ने बुझा दिया कुल के दीपक को*
जरवल।तीन बहनो मे कलशा ग्यारह वर्ष,वैष्णवी दस वर्ष व वेदका दो वर्ष का लाडला आर्य कुमार उर्फ शिवा जी को बेरहम हत्यारो ने उसकी मासूमियत पर भी रत्ती भर रहम नही किया ये भी नही सोचा कि वह अपने माँ-बाप के आँगन का इकलौता चिराग भी है जिस तरह से उस मासूम की हत्या की गई उसे देख कर किसी नर पिचास की करतूत को ही यहाँ जन्म दे गई।
*पूरे दिन दुबके रहे घरो मे बच्चे*
जरवल।मृतक शिवा जी की बुद्धवार को हुई हत्या के बाद जिसने भी वो वीभत्स नजारा वहाँ देखा लोगो का दिल दहल गया।उस नजारे को देख हर खासो आम के चेहरे पर एक ओर हत्यारो के प्रति गुस्सा झलक रहा था तो दूसरी तरफ हर शख्स की आँखे भी डबडबा आई थी इस घटना को लेकर डरे सहमे लोगो ने घर आकर अपने बच्चों को भी बाहर जाने से रोक दिए थे।पूरे दिन कस्बे मे मातमी माहौल भी दिखाई दिया।
Attachments area
Back to top button
E-Paper