जेब मे बज रहा गाना और लटक कर दे दी अपनी जान…

बिजुआ-खीरी। मारुति कार न मिलने पर बीकॉम के एक छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्र का शव गांव के बाहर आम के बाग में पेड़ की डाल से लटकता मिला। आपसी सहमति के बाद परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया।


भीरा थाना क्षेत्र के ग्राम बसतौली निवासी राजमन सिंह के बड़ा बेटा अमन (17) लखीमपुर युवराजदत्त महाविद्यालय से बीकॉम की पढाई कर रहा था। वह अपने पिता से बीते दो दिनों से मारुति कार खरीदने की जि़द कर रहा था। घरवालों ने कार खरीदने में असमर्थता जताते हुए सोमवार को डांट दिया।

जिसके बाद अमन घर से लखीमपुर कोचिंग पढऩे के लिए निकल गया था। जब वह देर शाम तक वापस अपने घर नही पहुंचा तो परिवार के लोगों ने उसकी तलाश शुरू की। देर शाम अमन का शव गांव के बाहर नहर के पास एक आम के पेड़ की डाल से लटकता मिला। अमन की मौत के बाद परिवार में गांव वालों के साथ आपसी सहमत बनाकर सब का अंतिम संस्कार कर दिया। खबर लिखे जाने तक परिवार ने पुलिस को घटना की जानकारी नहीं दी थी।

जिद के आगे त्याग दी दुनिया,

अमन जितना पढऩे में होशियार था उतना ही जिद का पक्का, उसकी जिद थी। वह लखींमपुर में पढ़ेगा। जिस वजह से घरवालों ने उसका नाम युवराजदत्त मे लिखाया। इसके साथ ही अमन कार खरीदने की जिद करने लगा। जि़द पूरी न होने पर आत्महत्या करने का फैसला कर लिया। बताते है अमन ने फांसी लगाने से पहले फोन पर घरवालों से बात की थी। अपने चेचेरे भाई कुनकुन से अपना वीवो का मोबाइल छोटे भाई को देने, तथा पैसे बहन को देने की बात की थी।

जेब मे बज रहा गाना और लटक कर दे दी जान,

जिस समय अमन ने फांसी लगाकर आत्महत्या की उसकी जेब में रखे मोबाइल मे गाना बज रहा था। मैं दुनिया तेरी छोड़ चला। अमन अवसाद से ग्रसित था।

Back to top button
E-Paper