चढ़े पारा से होने लगी पक्षियों की मौत, तालाब भराने की नहीं ली जा रही सुध

  • ग्राम प्रधान व लेखपाल नहीं ले रहा है संज्ञान कि तालाबों को भरवाये
  • तालाबों मे पानी न होने से पशु पक्षीं हो रहे बेहाल

कानपुर देहात, । जनपद कानपुर देहात के कस्बा रुरा में बढ़ते तापमान से पशु पक्षियों की मौत का सिलसिला जारी है। सोमवार को कस्बा के अनाज मंडी में बढ़ती गर्मी से एक पक्षी की मौत हो गई। सूर्य देव ने भी लोगों पर अपनी नजर टेडी करते हुए अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। बढ़ती चिल्लाती धूप से इंसानों के साथ साथ पशु-पक्षी भी अब बेहाल होने लगे हैं।

बात अगर की जाए पक्षियों की तो पक्षी छांव की तलाश में इधर-उधर भटकते हुए दिखाई पड़ रहे हैं। बढ़ते टेंपरेचर से कई पक्षियों की जाने भी जा चुकी हैं। जेठ के महीने में सूरज पूरे तेवर दिखा रहा है। सुबह होते ही धूप जलाने लगती है। गर्मी और लू के थपेड़ों ने इंसान ही नहीं पशु पक्षियों का हाल-बेहाल कर दिया। रविवार को अधिकतम तापमान 45 तक पहुंच गया।कानपुर देहात में सूर्यदेव के पारा दिनोंदिन चढ़ता जा रहा है। सुबह दिन चढ़ने के साथ आसमान से सूरज आग बरसाने शुरू कद देता है। इसके साथ लू के थपेड़ों से सड़कों पर चलने वालों का हाल बेहाल हो रहा है।

रात भर गर्म हवाएं चलती रहती हैं, जिससे रात में भी चैन की नींद नहीं सो पा रहे। लॉकडाउन के चलते भले लोग घरों में कैद हैं। नगर निगम के सफाई कर्मचारी, पुलिस के जवान, स्वास्थ्य कर्मचारी सुबह होते ही अपनी ड्यूटी को अंजाम देने के लिए दौड़ने लगते हैं, लेकिन आसमान से बरसती आग के चलते हर कोई बेहाल नजर आ रहा है। वही पर ग्राम प्रधान व लेखपाल के कानों मे जुऐं तक नही रेग रहे है कि इस भीषण गर्मी के मौसम मे तालाबों को भरवाया जाये ताकि पशु पक्षी को पानी दिक्कत का सामना न करना पड़े वही पर ग्राम प्रधान मनरेगा जैसा कार्य करवाने मे मशगूल दिखाई देते है सोमवार को सुबह दिन चढ़ने के साथ-साथ पारा भी चढ़ता गया। दोपहर तीन बजे तक तापमान 45 डिग्री तक पहुंचा। कड़ी धूप से बचने के लिए पूरे इंतजाम करने के बावजूद सड़कों पर गुजरते लोग बेहाल नजर आए।

Back to top button
E-Paper