फाइलेरिया संबंधी रोगों के निदान हेतु डॉक्टरों ने प्रधानों के साथ की मीटिंग

भास्कर समाचार सेवा-

    चकरनगर/इटावा, गुरुवार। विकासखंड चकरनगर ब्लॉक के सभागार में  खण्ड विकास अधिकारी सतीश चंद्र पाडेय की अध्यक्षता एवं आलोक चौहान सहायक विकास अधिकारी पंचायत के नेतृत्व में विकासखंड स्तरीय समस्त डॉक्टर टीम के साथ आहूत की गई जिसमें फाइलेरिया से होने वाली हानि को रोकने हेतु उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा चलाया जा रहा है। अभियान के तहत प्रत्येक गांव के प्रत्येक व्यक्ति को दवा वितरण की जा रही है जिससे फाइलेरिया का पूर्ण रूप से उन्मूलन हो सके

   |आपको वताते चलें कि मीटिंग का मुख्य उद्देश्य उ प्र सरकार के दिशा निर्देशनुसार प्रत्येक ग्राम पंचायत में प्रत्येक व्यक्ति को स्वास्थ्य व निरोगी वनाने के लिए फाइलेरिया जैसी विमारी को रोकना है | इस मीटिंग में प्रत्येक ग्राम प्रधान ने भाग लिया और डाक्टरों ने आपने विचार साझा  किए |

      उमेश मिश्रा 65 वर्ष बताते हैं कि आज के पहले फाइलेरिया का प्रकोप ज्यादातर दिखाई देता था जिससे काफी लोग पीड़ित हुआ करते थे लेकिन जब से शासन प्रशासन ने इस ओर ध्यान दिया है तब से इस बीमारी का उन्मूलन तो नहीं कहा जा सकता लेकिन कंट्रोल बहुत बड़ा है अब सरकार इस ओर पुनः ध्यान दे रही है जो ग्रामीण अंचलों में इसका प्रचार प्रसार होकर दवा वितरण की जाएगी तो इससे आम गरीब लोगों का बहुत बड़ा हित होगा। उषा देवी 45 वर्ष बतातीं हैं कि यह सरकार की पहल अति सराहनीय है इससे गरीब तबके के लोगों को काफी राहत मिलेगी मैं तो यह समझ रही थी कि सरकार का ध्यान केवल बुलडोजर पर ही है लेकिन इस योजना ने यह सिद्ध किया कि सरकार का ध्यान स्वास्थ्य पर भी है और वह भी गरीब तबके के लोगों के प्रति।
Back to top button