कुम्भ मेला भेजी गई 50 बसें, सैकड़ों यात्री का हाल हुआ बेहाल…

 

कानपुर और अन्य मार्गों पर जाने के लिये कई घंटे तक डिपो में डेरा डाले रहे यात्री

 हमीरपुर परिवहन निगम की डिपो में बसे न मिलने से सैकड़ों यात्री सोमवार को कानपुर और बांदा जाने के लिये परेशान रहे। यात्री बस स्टैण्ड में सवारी के इंतजार में काफी देर तक डेरा डाले रहे। कुम्भ में शाही स्नान के लिये 50 बसे यहां से प्रयागराज भेजे जाने के कारण डिपो में यह समस्या आयी है।
हमीरपुर डिपो के बेड़े में 65 बसे हैं। इनमें कई बस पुरानी हैं। शासन से मिली दो नयी बसों को भी कुम्भ मेला में भेजा गया है। दूसरे चरण में यहां से पचास बसें भेजी गयी, जिससे परिवहन निगम की सेवाओं में प्रभाव पड़ा है। सोमवार को सुबह कानपुर और लखनऊ जाने के लिये यात्रियों की भारी भीड़ उमड़ी लेकिन बसें नहीं मिली। कई घंटे तक सैकड़ों यात्री बस स्टैण्ड परिसर पर सर्दी में बस के इंतजार में बैठे रहे। लोकल रूट पर भी कम बसे चलायी जा रही हैं। वहीं उरई और बांदा मार्ग के लिये भी यात्रियों को बस का इंतजार कई घंटे तक करना पड़ा।
एआरएम सुहेल अहमद ने बताया कि प्रयागराज में दूसरे चरण के लिये पचास बसें यहां से भेजी गयी हैं। डिपो के 25 संविदा चालकों की ड्यूटी कुम्भ मेले में लगायी गयी है। वहीं पांच नियमित चालकों की भी ड्यूटी लगायी गयी है। इसके अलावा 28 परिचालकों की भी प्रयागराज जाने के लिये बसों में ड्यूटी लगायी गयी है। दो स्थायी परिचालक भी ड्यूटी पर प्रयागराज भेजे गये हैं। जिले के राठ परिवहन निगम से भी प्रयागराज में बसों को भेजे जाने से डिपो में यात्रियों को सोमवार के दिन भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हमीरपुर-महोबा मार्ग पर कम बसें चलने से मौदहा क्षेत्र के लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। 

Back to top button
E-Paper