लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर रफ्तार का कहर, कार पलटने से छात्रा की मौत, बहन समेत तीन अन्य घायल

अमित शुक्ला 
उन्नाव। लखनऊ आगरा एक्सप्रेसवे पर तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से जा टकराई और पलट गई ।हादसे में कार सवार छात्रा की घटनास्थल पर ही मौत हो गई ।जबकि चालक सहित तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को आनन-फानन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया।
मैनपुरी जनपद के थाना बेवर अंतर्गत ग्राम भटपुरा निवासी पंकज मिश्रा की पुत्री दीक्षा मिश्रा लखनऊ के शकुंतला मिश्रा पुनर्वास विश्वविद्यालय में डी एड  द्वितीय वर्ष की छात्रा है। आज प्रातः दीक्षा मिश्रा अपनी छोटी बहन मानसी को लेकर लखनऊ जाने के लिए घर से निकली थी। रास्ते में ग्राम श्यामपुर थाना बेवर निवासी सहपाठी शरद चौहान पुत्र जितेंद्र सिंह मिल गया। शरद चौहान की कार पर सवार होकर दोनों बहने लखनऊ के लिए चल दी। कार मोहम्मद सिराज पुत्र माजिद निवासी वजीर नगर थाना रामकोट सीतापुर चला रहा था ।दोपहर करीब 2:30 बजे कोतवाली क्षेत्र के ग्राम सबली खेड़ा के निकट कार में मौजूद छिपकली अचानक चालक के ऊपर गिर गई। जिससे चालक संतुलन खो बैठा और कार असंतुलित होकर डिवाइडर से टकराकर पलट गई। घटना की सूचना पर पहुंचे यूपीडॉ के गश्ती दल ने कड़ी मशक्कत के बाद चारों कार सवारों को कार से बाहर निकाला।
सभी कार सवारों को बाहर निकालने पर दीक्षा मिश्रा 23 वर्ष की मौत हो चुकी थी। जबकि शरद चौहान व मानसी मिश्रा तथा चालक मोहम्मद सिराज को यूपीडा की एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने सभी घायलों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। सूचना पर सीएचसी पहुंची दीक्षा की मां सुधा ने बताया कि आज दीक्षा की प्रैक्टिकल परीक्षा थी। वह अपनी छोटी बहन के साथ लखनऊ जा रही थी। दीक्षा और मानसी गांव  से बस पर सवार होकर निकली थी लेकिन रास्ते में सहपाठी शरद चौहान की कार पर सवार हो गई। पुलिस ने मृतक छात्रा के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु जिला अस्पताल भेज दिया है।
Back to top button
E-Paper