गोरखपुर में एंटीकरप्शन ने आरटीओ आफिस से छह संदिग्ध हिरासत में लिया

गोपाल त्रिपाठी
गोरखपुर। गोरखपुर के आरटीओ कार्यालय पर एंटी करप्शन की टीम ने बड़ी कार्यवाही की है। यहा पर कार्यालय के विभिन्न विभागों में काम कर रहे 6 प्राइवेट व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया है। जिलाधिकारी के निर्देश पर एंटीकरप्शन की टीम ने प्रभारी निरीक्षक जे0पी0 पांडेय के नेतृत्व में कैंट पुलिस के साथ मिलकर संभागीय परिवहन अधिकारी कार्यालय पर छापा मारा और यहाँ से शेष पाल ,कुन्नू ,राकेश गौड़, वीरेंद्र चौधरी, अजय यादव, वेद प्रकाश उपरोक्त व्यक्तियों के पास से 6 फाइलें बरामद की गई, व् कुछ पेपर भी बरामद किया गया, जिसके बाद जवाब न दे पाने पर इन्हें हिरासत में लेकर कैंट पुलिस के हवाले कर दिया गया |
 वही पकड़े गए राकेश अभियुक्त की माने तो उन्हें गलत तरीके से पकड़ कर लाया गया है, ये अपने वकील के मुंशी है, और इस बेरोजगारी में रोजगार के नाते यहा पिछले एक साल से काम कर रहे है, और ये किसी काम से अंदर गए हुए थे, तभी पकड़ कर इन्हें यहा ले आये, मैंने इनसे कहा एक बार मेरे वकील साहब से बात कर लीजिये लेकिन ये लोग न बात किये न कुछ किये सीधे यहा लेकर चले आये, हम लोग बेरोजगार क्या करे |
 इस पुरे मामले पर संभागीय भीम  सिंह आरटीओ अधिकारी की माने तो उन्हें इस बारे में कुछ भी पता नहीं, और जब कार्यवाही यानी छापेमारी हो गई और कुछ लोग को पकड़ कर थाने ले जाया गया तो इसकी जानकारी इन्हें हुई है, और अंदर अधिकारियो के मिली भगत को लेकर इन्होने साफ़ इंकार किया है, और उन्होंने कहा, कि पकड़े गए किसी व्यक्ति को हम नहीं जानते है, और वो अंदर कैसे आये इसकी जाँच मै करवाउंगा |
 बार कार्यवाही के बाद भी आरटीओ में दलालों का बोल बाला है, और बड़े ही धड़ल्ले से इनका कारोबार फल फुल रहा है, फ़िलहाल जिला अधिकारी के निर्देश पर ये बड़ी कार्यवाही एंटी करप्शन की टीम ने की है, और इस कार्यवाही के बाद अब कुछ दिनों तक इस धंधे पर विराम लगने की बात कही जा रही है |
Back to top button
E-Paper