बांदा: केन्द्रीय टीम ने बीएसएल-4 लैब के लिए देखी जमीन

दैनिक भास्कर न्यूज

बबेरू। मरीजों की बेहतर जांच के लिए बीएसएल-4 लैब सिमौनी धाम में बनाई जानी है। इसके लिए जमीन का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा गया था। सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए गुरुवार को अपनी तीन सदस्यीय टीम भेजा। टीम के सदस्य सुबह संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से बांदा आई और अपर सीएमओ से मिलने के बाद मेडिकल कॉलेज के लैब टेक्नीशियनों के साथ सिमौनी धाम पहुंची। वहां पर प्रस्तावित 100 बीघा जमीन का जायजा लिया।

टीम सदस्यों ने बिजली, पानी, सड़क आदि की देखी व्यवस्था

गंभीर मरीजों को जांच के लिए महानगरों का चक्कर लगाना पड़ता है। बबेरू कोतवाली क्षेत्र के सिमौनीधाम में स्वामी अवधूत महाराज का हर वर्ष तीन दिवसीय विशाल मेला और भंडारे का आयोजन होता है। वहां पर केन्द्रीय मंत्रियों से लगाकर राज्य सरकार के मंत्री तक अवधूत नगरी में मत्था टेकने पहुंचते हैं। वहां पर बीएसएल-4 लैब बनवाए जाने के लिए स्वामी अवधूत महाराज ने प्रस्ताव रखा था। ताकि मरीजों को बेहतर इलाज और बेहतर जांच हो सके। यह प्रस्ताव काफी दिनों से पड़ा हुआ था।

केंद्र सरकार ने प्रस्ताव पर गौर किया और तीन सदस्यीय टीम महानिदेशक स्वास्थ्य भारत सरकार डा. अतुल गोयल, निदेशक एमसीजीसी डा. मीरा धुरिया, डा. अरविंद राय गुरुवार की सुबह संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से बांदा आए। अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. अजय कुमार से मिलने के बाद मेडिकल कालेज के लैब टेक्नीशियनों के साथ सिमौनी धाम पहुंचे। वहां स्वामी अवधूत महाराज के साथ लैब बनाने के लिए प्रस्तावित 100 बीघा जमीन का निरीक्षण किया। टीम जमीन देखने के बाद वापस चली गई।

अपर सीएमओ डा. अजय कुमार ने बताया कि टीम ने प्रस्तावित जमीन का निरीक्षण किया है। इसके अलावा बिजली, पानी, सड़क आदि व्यवस्था का जायजा लिया। यह रिपोर्ट भारत सरकार को सौंपी जाएगी। एसीएमओ ने यह भी बताया कि सभी बीमारियों की जांच इस लैब से होगी और यह देश की दूसरी लैब होगी। इस दौरान पूर्व मंत्री शिवशंकर सिंह पटेल, पूर्व विधायक चंद्रपाल कुशवाहा, लाखन सिंह, राजेश द्विवेदी, आनन्द स्वरूप द्विवेदी, कल्लू सिंह प्रधान, बच्चा सिंह सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Back to top button