बाराबंकी : दो प्रतिशत कार्ड भी नहीं हो सके सरेंडर


नवाबगंज बाराबंकी।
राशन कार्ड सरेंडर करने के लिए जिला मुख्यालय से लेकर तहसील स्थित पूर्ति निरीक्षक कार्यालय में भीड़ तो उमड़ रही है, लेकिन अभी तक मात्र दो प्रतिशत राशन कार्ड भी सरेंडर नहीं हो सके हैं। जिसे लेकर विभागीय अधिकारी अब परेशान दिख रहे हैं।

जिले में अब तक 11866 लोगों ने सरेंडर किया अपना राशन कार्ड जो संख्या कुल संख्या से दो प्रतिशत से भी काम है। राशन कार्ड सरेंडर करने की तिथि एक बार फिर बढ़ाकर 25 मई कर दी गई है। इसे लेकर जिला पूर्ति अधिकारी ने बताया है जो कोई अपात्र है।उसे अपना राशन कार्ड स्वतः सरेंडर कर दिया जाना चाहिए।

ताकि जांच के बाद उससे रिकवरी ना की जाए। 25 मई गुजरने के बाद शासन के निर्देश पर तहसीलदार कई टीमें बनाई जाएंगी जो गांव गांव जाकर राशन कार्ड की पात्रता की जांच करेंगी।अभी तक सबसे अधिक नवाबगंज में 3387 राशन कार्ड सरेंडर हुए हैं। इसके बाद तहसील फतेहपुर में 2156 तो तहसील रामनगर में 1298 लोगों ने अपने कार्ड स्वयं सरेंडर किए हैं। इसी प्रकार सिरौलीगौसपुर में सबसे कम 888 तो हैदरगढ़ में 1350 और रामसनेहीघाट में 1243 लोगों ने खुद को अपात्र बताते हुए अपना राशन कार्ड सरेंडर किया है।

कुछ ऐसा ही मिलाजुला हाल नगर पालिका का भी है। जहां पर अभी तक महज़ 398 लोगों ने खुद को अपात्र घोषित करते हुए अपना कार्ड सरेंडर किया है। खुद को अपात्र घोषित कर कार्ड सरेंडर करने वालों में पात्र गृहस्थी व काफी संख्या में अंत्योदय कार्ड धारक भी शामिल हैं।

Back to top button