काला रविवार : सीमांचल एक्सप्रेस में सवार हुए थे करीब दो सौ यात्री, रेलवे ने की 7 के मरने की पुष्टि, 4 गंभीर

Image result for बिहार में रेल हादसा

बेगूसराय । बरौनी-बछवाड़ा-हाजीपुर रेल मार्ग पर दुर्घटनाग्रस्त 12487 सीमांचल एक्सप्रेस में बेगूसराय के किसी यात्री के संबंध में जानकारी नहीं मिल रही है। लेकिन घटना के बाद बेगूसराय में अफरा-तफरी का माहौल है। बेगूसराय से सवार होने वाले यात्रियों के परिजन घटनास्थल की ओर रवाना हो गए हैं। बेगूसराय स्टेशन से ट्रेन में सवार होने के लिए एसी में छह यात्री एवं स्लीपर में 36 यात्रियों ने रिजर्वेशन कराया था।

प्रयागराज कुंभ में जाने के लिए यहां से 130 यात्रियों ने टिकट कटवाया था जबकि आनंद विहार दिल्ली जाने वाले जनरल बोगी के यात्रियों की संख्या सही -सही मालूम नहीं हो रही है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सीमांचल के गुजरने से पहले नॉर्थ ईस्ट एक्सप्रेस गुजरी थी लेकिन उसकी जनरल बोगी में सवार यात्रियों द्वारा गेट नहीं खोलने के कारण बड़ी संख्या में प्रयाग, दिल्ली समेत अन्य जगह जाने वाले लोग सीमांचल में सवार हुए थे। घटना की जानकारी मिलते ही यहां अफरा -तफरी मच गई । कंट्रोल रूम बरौनी के अनुसार इस रूट से गुजरने वाली सभी ट्रेनों को पटना एवं मुजफ्फरपुर रूट से डायवर्ट कर दिया गया है। पाटलिपुत्र-सहरसा जनहित एक्सप्रेस को पटना, मोकामा के रास्ते चलाया जा रहा है। शेष ट्रेन किस रूट से गुजरेगी इसकी जानकारी समाचार प्रेषण तक बरौनी कंट्रोल रूम के पास नहीं पहुंची है। इधर, रेलवे के वेबसाइट पर गलत जानकारी दिए जाने से लोगों में विभाग के प्रति आक्रोश है।

रेलवे ने की 7 के मरने की पुष्टि, 4 गंभीर

No

 पूर्व मध्य रेलवे के सोनपुर डिवीजन में सहदई बुजुर्ग स्टेशन पर रविवार को रेलगाड़ी संख्या 12487 जोगबानी-आनंद विहार सीमांचल एक्सप्रेस के पिछले 11 डिब्बे पटरी से उतर गए और इनमें से 3 डिब्बे पलट गए। हादसे में घटनास्थल पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार वहां 13 यात्रियों के शव निकाले जाने की बात कही जा रही है वहीं रेलवे ने आधिकारिक रूप से अभी तक घटना में केवल 7 यात्रियों के मरने की पुष्टि की है।
रेल मंत्रालय की प्रवक्ता स्मिता वत्स शर्मा ने कहा कि सीमांचल ट्रेन हादसे में 7 लोगों ने जान गंवा दी है और 4 गंभीर रूप से घायल हुए हैं जबकि 27 अन्य यात्रियों को मामूली चोट आई हैं। उन्होंने बताया कि रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को 1-1 लाख रुपये और साधारण घायलों 50-50 हजार रुपये की सहायता देने की घोषणा की है। उन्होंने बताया कि बचाव अभियान पूरा हो गया है। इस दुर्घटना की जांच की जिम्मेदारी पूर्वी सर्कल के रेलवे सुरक्षा आयुक्त को दी गई है।
रेलवे प्रवक्ता के अनुसार दुर्घटना की खबर मिलते ही रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव, वरिष्ठ रेलवे बोर्ड के अधिकारी, महाप्रबंधक, पूर्व मध्य रेलवे, डीआरएम सोनपुर और अन्य वरिष्ठ अधिकारी दुर्घटना स्थल पर तुरंत पहुंच गए।
स्व चालित दुर्घटना राहत ट्रेन और चिकित्सा उपकरण (एसपीएआएमई) और दुर्घटना राहत ट्रेनें (एआरटी) भी वहां पहुंच गईं थीं। यात्रियों के साथ घटना स्थल से सुरक्षित शेष 12 कोचों को हटा दिया गया है और उन्हें दानापुर ले जाया गया है, जहां अतिरिक्त कोच जोड़ कर विशेष ट्रेन को आनंद विहार टर्मिनल के लिए चला दिया गया। सभी घायलों को नजदीक के जिला और रेलवे अस्पतालों में भर्ती कराया गया। वहां डॉक्टरों और एंबुलेंस की सेवा घायलों को दी गयी है। घायल यात्रियों का सभी चिकित्सा व्यय रेलवे वहन करेगा।
पटना, हाजीपुर और अस्पतालों में यात्रियों के लिए पर्याप्त मुफ्त खानपान की व्यवस्था की गई है। उनकी देखभाल के लिए टीमों के साथ वाणिज्यिक अधिकारियों को हाजीपुर और दानापुर में तैनात किया गया है। विभिन्न स्टेशनों पर अपनी यात्रा जारी नहीं रखने वाले यात्रियों को रिफंड की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।

Back to top button
E-Paper