भूमाफियाओं पर बुलडोजर का कहर : चार माह में मुक्त कराई सवा अरब की जमीन

जिले में एक के बाद एक करोड़ों की जमीनों को कराया जा चुका है कब्जामुक्त

झांसी। विधानसभा चुनाव 2022 के बाद बुलडोजर अपराधियों व भूमाफियाओं पर कहर बनकर बरपा है। महानगर समेत जिले की पांचों तहसीलों में अब तक करोड़ों की भूमि कब्जा मुक्त कराई गई है। जनवरी से मई के महीने तक करीब सवा अरब से ज्यादा कीमत की भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया गया है। इसका श्रेय लोग प्रदेश के मुखिया समेत जिले के उच्चाधिकारियों को दे रहे हैं।

विधानसभा चुनाव 2022 भारतीय जनता पार्टी ने बुलडोजर के नाम पर लड़ा। इस पूरे चुनाव में किसी भी पार्टी का कोई जोर नहीं चला। लोगों के जेहन में केवल एक ही बात थी। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों के हौसले पस्त कर दिए हैं और अब यदि वह अवैध संपत्तियों पर बुलडोजर चलने की बात कर रहे हैं तो निश्चित रूप से वह ऐसा करेंगे ही। लोगों ने भारतीय जनता पार्टी को अपना मतदान देकर एक बार फिर सत्ता में बहुमत के साथ 35 वर्षो का रिकॉर्ड तोड़ कर भाजपा की वापसी कराई और अपने दिए गए आश्वासन के अनुसार योगी आदित्यनाथ ने अवैध भू माफियाओं को कांपने पर मजबूर कर दिया। इसका अंदाजा महज एक जिले के आंकड़ों से लग जाएगा।

आंकड़ों की माने तो जनवरी से लेकर अब तक महज 4 महीनों में महानगर समेत नगर निगम, झांसी विकास प्राधिकरण व जिले की 5 तहसीलों में अब तक 85.468 हेक्टेयर यानी 211.2 एकड़ जमीन को बुलडोजर ने अवैध कब्जे से मुक्त कराया है। इसकी कीमत करीब एक अरब 26 करोड़ 37 लाख 91 हजार 920 रुपए बताई जा रही है। इस संबंध में जानकारी देते हुए एडीएम प्रशासन अरुण कुमार सिंह ने बताया कि महानगर में नगर निगम के द्वारा 4.556 हेक्टेयर,जेडीए के द्वारा 9.695 हेक्टेयर कुल मिलाकर 14.259 हेक्टेयर जमीन मुक्त कराई है। इसकी कीमत करीब एक अरब 6 करोड़ 64 लाख 50 हजार रुपये बताई जा रही है। जबकि ग्रामीण अंचल में पांचों तहसीलों से 71.217 हेक्टेयर भूमि को कब्जा मुक्त कराया गया। कुल मिलाकर पूरे जनपद से एक अरब 26 करोड़ 33 लाख 91 हजार 920 रुपए कीमत की भूमि को कब्जे से मुक्त कराया गया है।

इसके अलावा नगर निगम के द्वारा महानगर में 4 बिल्डिंग को भी खाली करवाया गया है, जिनकी कीमत 15 लाख रुपए बताई जा रही है। जबकि तहसीलों में 25 बिल्डिंगों को खाली कराया गया है। इन सबकी कीमत मिलाकर 82 लाख 50 हजार रुपए बताई जा रही है। यह वह कार्य है जिसे महज 4 महीनों के अंदर पूर्ण किया गया है। अभी ऐसी और न जाने कितनी संपत्तियां कब्जे में है। इनके लिए नगर निगम,झांसी विकास प्राधिकरण और पूरा जिला प्रशासन मुक्त कराने के लिए रणनीति बना चुका है। उसे भी अमली जामा पहनाने का कार्य किया जा रहा है।

जीत की हैट्रिक के बाद सदर विधायक ने दिए थे संकेत

विधानसभा चुनाव 2022 में जीत की हैट्रिक लगाने के बाद सदर विधायक रवि शर्मा पत्रकारों से वार्ता करते हुए इस बड़ी कार्रवाई के पहले ही संकेत दे दिए थे। अपने विजई बयान में उन्होंने कहा था कि योगी जी से उन्होंने आशीर्वाद मांगा तो उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड की ओर तो हमारी बराबर नजर रहती है। इस पर विधायक ने उनसे कहा था कि आपने पूर्वांचल और अन्य स्थानों पर तो बुलडोजर चलाया लेकिन बुंदेलखंड अभी अछूता है। इस पर उन्होंने सदर विधायक को आश्वस्त किया था कि विधानसभा चुनाव के बाद बुंदेलखंड भी बुलडोजर के कहर से अछूता नहीं रहेगा। भू माफिया व अपराधी बुलडोजर के कहर से कांपेंगे।

Back to top button