मीटर स्थापित करने वाले कर्मियों को दिए गए सुरक्षा के टिप्स

क़ुतुब अंसारी
बहराइच।शहर के बक्शीपुरा नयी बस्ती स्थित सिक्योर मीटर लिमिटेड के कार्यालय में गुरुवार को एक बैठक आयोजित की गयी है।बैठक को सम्बोधित करते हुए देवीपाटन मंडल के जोनल इंचार्ज शैलेंद्र मिश्र ने कहा कि बिजली दुर्घटनाओं का मुख्य कारण लापरवाही और अति विश्वास है। यदि बिजली की मरम्मत का कार्य करते समय कर्मचारी सुरक्षा सावधानियों का ध्यान रखे तो न केवल अपना अमूल्य जीवन बचा सकते हैं बल्कि अपने साथियों और जनता को भी बिजली दुर्घटनाओं से सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।
मिश्र ने कहा कि नशीली वस्तुओं का सेवन करके काम करना न केवल खतरनाक है बल्कि अपने जीवन के साथ खिलवाड़ है। मीटर स्थापित करने से पहले सुरक्षा उपकरणों को पहनने के साथ-साथ उनकी जाच करना भी जरूरी है। बिजली की सभी वोल्टेज को खतरनाक समझकर ही पूरी सर्तकता के साथ कार्य करना चाहिए। बिजली संकट और उपकरण को डैड स्थिति में भी चालू समझकर सावधानी से काम करें। काम करते समय अर्थिग राड और अर्थिग गुच्छी और डिस्चार्ज राड का प्रयोग अवश्य करें।
साइड इंचार्ज विनीत मौर्या ने प्राथमिक चिकित्सा का व्यवहारिक ज्ञान दिया।क्वालिटी सुपरवाईजर विवेक त्रिपाठी ने बैठक को सम्बोधित करते हुए  बताया कि कर्मचारी काम करते समय ढीले कपडे़ या ऐसे कपडे़ जिस पर धातु के बटन या स्टड लगे हों न पहनें घड़ी की चेन व कील वाले जूते न पहनें, पोल पर चढ़ते समय अपना मोबाइल सहायक कर्मचारी को नीचे देकर जाएं, टेस्ट पैन, टेस्ट होल्डर सिर्फ एल्टी सप्लाई को चेक करने के लिए ही प्रयोग करें। प्लास, पेंचकस, दस्ताना, सभी एल्टी लाइनों पर काम करने के लिए प्रयोग करने चाहिए। उच्च वोल्टेज लाइनों पर केवल परमिट लेकर ही तथा सुरक्षा के सभी उपाए अपनाकर ही काम करें। इत्यादि सुरक्षा उपायों से संबंधित प्रस्तुती दी। इस अवसर पर शिवपूजन, अरविन्द कुमार राजपूत, सुमित सिंह,पवन पाण्डेय,उमेश कुमार, मनीष गुप्ता, ओमप्रकाश सिंह, वेद प्रकाश सिंह, कृष्ण प्रताप सिंह, अवधेश गुप्ता आदि लोग उपस्थित रहे।
Back to top button
E-Paper