विकासखण्ड निघासन क्षेत्र में बनेंगे आठ अमृत सरोवर, मिलेंगी ये सुविधाएं

लखीमपुर खीरी। पानी की बढ़ती जरूरत के साथ जमीन के जल स्तर में कमी आ रही है। तालाब, जो एक समय में पानी के मुख्य स्त्रोत माने जाते थे, उनका आस्तित्व खतरे में है। जिसे देखते हुए सरकार ने आजादी के अमृत महोत्सव योजना के तहत तालाबों को अमृत सरोवर के रुप में विकसित करने की शुरुआत की है। जिसके तहत विकासखण्ड निघासन क्षेत्र में कुल आठ अमृत सरोवर का निर्माण कराया जाएगा।

ग्राम पंचायत लालपुर, बनवीरपुर, मुर्गाहा, सिंगाही देहात, सहनखेड़ा व कड़ियां में अमृत सरोवर का निर्माण होना है। जिसमें पांच पंचायतों में कार्य चल रहा है व तीन सरोवरों के लिए जगह का चिन्हाकन नही हो पाया है। ग्राम पंचायत बनवीर में तालाब पर अवैध कब्जा था जिसे राजस्व विभाग द्वारा हटाया गया तत्पश्चात उस पर कार्य शुरू किया गया। लालपुर पंचायत में इटैय्या तालाब में जमा हुई जलकुंभी को निकालने का कार्य किया जा रहा है। खंडविकास अधिकारी निघासन राकेश कुमार सिंह ने बताया कि पांच सरोवरों पर कार्य शुरू है जबकि तीन के लिए जगह का चयन नही हो पाया है। जल्द ही जगह का चयन करके उन पर भी कार्य शुरू करवाया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि इन सरोवरों का खास मकसद जल संरक्षण है साथ ही लोगों का मनोरंजन भी हो पायेगा।

ये मिलेंगी सुविधाएं

अमृत सरोवर में छाया हेतु वृक्षारोपण किया जाएगा। इसके साथ ही सरोवर में बोटिंग, ओपन जिम, बैठने हेतु बेंच, फुहारों, घूमने के लिए रास्ता भी बनाया जाएगा।

तालाब सूखने पर भरवाया जाएगा पानी

खंडविकास अधिकारी राकेश कुमार सिंह ने बताया कि गर्मियों के दिनों तालाब जब सूखने लगेंगे तो उसके लिए यदि तालाब के पास कोई नहर होगी तो उससे पानी भरवाया जाएगा अन्यथा ट्यूबवेल की मदद से तालाबों में पानी को भरवाया जाएगा। कई योजनाओं को सम्मलित कर बजट निकाला जाएगा:-
खंडविकास अधिकारी निघासन ने बताया कि अभी फिलहाल सरोवर निर्माण के लिए कोई बजट उपलब्ध नही कराया गया है। मनरेगा योजना से इसका निर्माण करवाया जा रहा है साथ ही आगे कई योजनाओं को सम्मलित किया जाएगा उनमें जहां से भी फंड मुहैया करवाया जाएगा उससे भी काम कराया जाएगा। बरसात से पहले मिट्टी का कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा।

Back to top button