फतेहपुर : चंद दिनों में बदला था कारागार मंत्री का टिकट…फिर भी चुनाव में मारी बाजी

भास्कर ब्यूरो

फतेहपुर । भाजपा व अपना दल (एस) के गठबंधन से कारागार राज्यमंत्री जय कुमार जैकी इस बार बिंदकी सीट से चुनाव जीते हैं। यह जीत यूं ही नहीं मिली बल्कि नई जगह पर पैठ बनाने के लिए रणनीति के तहत काम करना पड़ा। कहीं विरोध तो कहीं सत्कार के बीच ऐसा संबंध बनाया कि जीत दर्ज हो गई। जय कुमार जैकी 2017 में बनी भाजपा सरकार में कारागार राज्यमंत्री रहे और पूरे 5 साल तक चुनावी तैयारी जहानाबाद सीट पर की, आखिरी मौके पर इनका टिकट कुछ विशेष परिस्थितियों के कारण बिंदकी विधानसभा हो गया।

योगी मोदी के नाम पर मतदाताओं ने किये वोट

इसके बावजूद चंद दिनों में कुछ ऐसा माहौल बना कि यहां वर्षों से तैयारी कर रहे सपा के दयालु गुप्ता को पराजय का मुंह देखना पड़ा। विधानसभा के मतदाताओं का कहना है कि बीजेपी प्रत्याशी के जीत का कारण भारतीय जनता पार्टी का शीर्ष नेतृत्व है मतदाता ने प्रत्याशी को न देखकर योगी व मोदी के नाम पर वोट किया है। प्रत्याशी का जातीय समीकरण, व्यक्तिगत व्यवहार व सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से लोग लाभान्वित हुए हैं जो मुख्य रूप से जीत का कारण है। वही दूसरे नंबर पर रहे सपा प्रत्याशी रामेश्वर दयाल गुप्ता को मतदाताओं द्वारा नकारने का कारण प्रत्याशी का व्यक्तिगत व्यवहार अच्छा न होना, जातीय ध्रुवीकरण ना बन पाना व शीर्ष नेतृत्व का कमजोर होना रहा।

इस बाबत जय कुमार जैकी ने कहा कई वर्षो से बिंदकी बाईपास की समस्या बनी हुई है जिसका जल्द से जल्द निराकरण प्राथमिकता से कराएंगे इसके अलावा औद्योगिक क्षेत्र को सवारने, बिंदकी कस्बे की बदहाल पेयजल व ड्रेनेज सिस्टम का पुनरुद्धार, बस स्टॉप, बिजली पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य व अन्ना जानवरों की समस्या पर विशेष ध्यान देंगे और जो भी विकास कार्य रुके थे उनको जल्द से जल्द पूरा कराया जाएगा।

Back to top button