हुजूर आते-आते बहुत देर कर दी !

दैनिक भास्कर ने पूर्व मे प्रमुखता से प्रकाशित खबरों के माध्यम से चेताया भी था

……और जरवल का मोहल्ला मासूकनगर हाॅट स्पाट “कन्टेनमेन्ट”ज़ोन घोषित हो ही गया

कोरोना पॉजीटिव के एक ही मरीज ने प्रशासन की उड़ा दी नींद मौके पर पहुँचा डीएम का काफिला

अशोक सोनी
जरवल/बहराइच। जरवल नगर पंचायत के मासूक नगर मोहल्ले मे मुम्बई से आए एक प्रवासी मजदूर की पॉजीटिव रिपोर्ट आते ही जिला प्रशासन पूरी हरकत मे आ गया और उक्त मोहल्ले को हॉट स्पाट”कन्टेनमेन्ट”जोन घोषित कर दिया।बताते चले लॉक डाउन को लेकर जरवल कस्बे के तेरहो वार्ड मे हजारो की संख्या मे शासन व प्रशासन की चोरी-छिपे दिल्ली मुम्बई गुजरात आदि बड़े महानगरो से प्रवासी मजदूर खास कर युवा तबका आ गया जो एक भी दिन होम क्वॉरेंटाइन न होकर खुले आम कस्बे की गली कूचों मे  बगैर मास्क के लोगो से गलबहिया करते देखा जाने लगा तो दैनिक भास्कर ने प्रमुखता से खबर को प्रकाशित कर प्रशासन का ध्यान कई बार उत्कृष्ट करवाया लेकिन प्रशासन की नींद उस समय खुली जब यहाँ एक कोरोना पॉजीटिव का केस सामने आ गया अन्य मोहल्लो मे भी जाँच होने पर कोरोना का बम फूटता नजर आ सकता है को नकारा भी नही जा सकता है।जानकारों की माने तो मंगलवार की देर रात्रि को पॉजिटिव पाए गए मरीज को इलाज के लिए स्वास्थ्य व पुलिस महकमा उठा ले गई बुद्धवार की भोर पहर से जिला प्रशासन के डर से यहाँ का निकाय प्रशासन ने मासूक नगर मोहल्ले को सेनीटाइज कर  मोहल्ले के लोगों को मास्क का वितरण शुरू करवा दिया साथ ही नालियों मे बिलीचिंग का छिड़काव भी किया गया।मासूक नगर मोहल्ले मे पहुँचे जिलाधिकारी शंभू कुमार ने कोरोना वायरस से एक व्यक्ति के पीड़ित/संक्रमित पाये जाने के फलस्वरूप  सम्बन्धित क्षेत्र को हाॅट स्पाट/कन्टेनमेन्ट ज़ोन घोषित करते हुए तत्काल प्रभाव से कोविड-19 के फैलाव को रोकने एवं बचाव व नियंत्रण किये जाने के उद्देश्य से सम्बन्धित क्षेत्र को आग्रिम आदेशों तक अस्थायी रूप से सील किये जाने एवं सम्पूर्ण क्षेत्र में प्रवेश एवं निकास तथा वाहनों के संचालन को अपरिहार्य स्थिति को छोड़कर प्रतिबन्धित किये जाने के आदेश जारी कर दिए।जिसमे प्रत्येक व्यक्ति अपने-अपने घरों (इन्डोर) में ही रहेंगे का आदेश भी दिया।जिला मजिस्ट्रेट श्री कुमार द्वारा हाॅट स्पाट/कन्टेनमेन्ट ज़ोन के लिए नोडल अधिकारी/सहायक नोडल अधिकारी तथा नोडल पुलिस अधिकारी व सहायक नोडल पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गयी है।जिसमे जरवल कस्बा क्षेत्रान्तर्गत मोहल्ला मासूकनगर में कोविड-19 के संक्रमण का एकल प्रकरण होने के फलस्वरूप कन्टेनमेन्ट ज़ोन का दायरा सम्बन्धित मोहल्ला अथवा 250 मीटर के रेडियस में,जो भी कम हो,होगा।कन्टेनमेन्ट ज़ोन क्षेत्रों के अन्दर एवं बाहर किसी भी व्यक्ति, वाहन इत्यादि को आवागमन की अनुमति नहीं होगी।के आदेश दिए लेकिन चिकित्सीय आपातकालीन स्थिति और आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं की आपूर्ति से सम्बन्धित हों उस पर भी अधिकारी ध्यान दे कि बात कही श्री कुमार ने कन्टेनमेन्ट ज़ोन में 21 दिनों तक कोई संक्रमण प्राप्त न होने पर हाॅट स्पाट ग्रीन ज़ोन में परिवर्तित कर दिया जावेगा हो जायेगा की बात कही।जिला मजिस्ट्रेट श्री कुमार ने नामित मजिट्रेटों/पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया है कि कोविड-19 के फैलाव को रोकने एवं बचाव व नियंत्रण के दृष्टिगत हाॅट स्पाट की बैरीकेटिंग कराते हुए शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुरूप सुरक्षात्मक प्रोटोकाल एवं सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन कराना सुनिश्चित करेंगे का आदेश देते हुए सम्बन्धित मजिस्ट्रेटों को यह भी निर्देश दिया गया है कि उपरोक्त मोहल्ला एवं उसके आस-पास के क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार नोटिस चस्पा कराने व सभी सम्बन्धित को सूचित कराने के साथ-साथ चिकित्सा एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर आदेश का कड़ाई से अनुपालन भी करना सुनिश्चित करे का आदेश भी दिया इस अवसर पर जिले के कई अधिकारियों के साथ उपजिलाधिकारी कैसरगंज बाबू राम,सीएचसी जरवल के चिकित्सा प्रभारी डॉ निखिल सिंह,महिला चिकित्सक डॉ प्रियंका गुप्ता,सीओ कैसरगंज, अधिशाषी अधिकारी देव कुमार,चेयरमैन प्रतिनिधि इंतजार अहमद,जरवल रोड के थानाध्यक्ष बृजेन्द्र पटेल,जरवल चौकी इंचार्ज मो.अफजाल खान व राजस्व निरीक्षक आदि मौजूद रहे।
बॉक्स
निगरानी समिति की अध्यक्ष/सभासद को कारण बताओ नोटिस
जरवल।कस्बे के मासूक नगर वार्ड की सभासद/निगरानी समिति की अध्यक्ष साकरूँन बानो को गैरहाजिर रहना उस समय महंगा पड़ गया जब डीएम शंभू कुमार के आदेश पर यहाँ के ईओ देवकुमार द्वारा कारण बताओ नोटिस उन्हे भेजी गई जिसमें सभासद को अपने दायित्यों को न निभाने की वजह बताई गई है उनसे तीन दिवस मे जवाब भी माँगा गया है एसा न करने पर नोटिस मे कार्यवाही की बात भी कही गई है।

Back to top button
E-Paper