हैदराबाद गैंगरेप केस : पुलिस ने AIMIM MLA के बेटे संग भतीजे को धरदबोचा

हैदराबाद रेप केस में स्थानीय पुलिस ने AIMIM विधायक के बेटे और भतीजे को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों ही नाबालिग हैं। पुलिस ने यह भी बताया कि जिस इनोवा कार में अपराध को अंजाम दिया गया था, वह सरकारी कार है। हैदराबाद पुलिस कमिश्नर सीवी आनंद ने बताया कि यह कार एक आरोपी के पिता को अलॉट की गई थी।

तथ्यों की जांच-पड़ताल के बाद मामले पर एक्शन

आरोपी का पिता रखूसदार नेता है जो एक प्रमुख सरकारी संगठन का मुखिया है। पुलिस सभी नाबालिगों के माता-पिता को भी गिरफ्तार करने के बारे में सोच रही है, लेकिन पहले तथ्यों की पड़ताल की जाएगी। पुलिस ने अब तक छह लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें से पांच नाबालिग हैं।

पुलिस कमिश्नर आनंद ने कहा कि MLA के बेटे को गैंग रेप के लिए नहीं, बल्कि इंडियन पीनल कोड और पॉक्सो (POCSO) एक्ट के सेक्शन 354 के तहत हिरासत में लिया गया है। बाकी पांच आरोपियों को सेक्शन 376 (D) (गैंगरेप), 354, 366 (किडनैपिंग) POCSO Act, IT Act (पीड़िता के वीडियो सर्कुलेट करने के लिए) समेत कई अन्य सेक्शन के तहत चार्ज किया गया है।

अपराध में इस्तेमाल हुईं दो कारें

घटना 28 मई की है। लड़की के पिता ने जब उसके शरीर पर निशान देखे तो बुधवार 1 जून को आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। कमिश्नर आनंद ने कहा कि अपराध में दो कार इस्तेमाल की गई थीं और दोनों को नाबालिग ड्राइव कर रहे थे। 28 मई की शाम को करीब 5:30 बजे पीड़िता 8 लोगों के साथ निकली। सभी लोग दो कारों में बैठकर वहां से रवाना हुए।

पीड़िता के साथ चार नाबालिग मर्सिडीज बेंज में और बाकी सभी इनोवा में बैठे। ये सभी यहां से बेकरी पहुंचे। रास्ते में चार नाबालिगों ने पीड़िता को किस करने के वीडियो सोशल मीडिया पर सर्कुलेट कर दिए। बेकरी पहुंचने के बाद पीड़िता इनोवा में बैठ गई। इसमें उसके साथ चार नाबालिग और एक बालिग आरोपी था। आरोपी कार को चलाकर जुबली हिल्स रोड नंबर 44 तक ले गए, जहां उन्होंने उसका गैंग रेप किया।

नाबालिगों के माता-पिता हो सकते हैं गिरफ्तार

MLA के बेटे को गिरफ्तार करने में इतना वक्त क्यों लगा? इस सवाल के जवाब में कमिश्नर आनंद ने बताया कि पुलिस सारे सबूतों को पीड़िता के बयान से मिलाकर देखकर चाहती थी। इसके अलावा और भी कई फैक्टर थे जिन पर ध्यान देने के बाद ही MLA के बेटे को हिरासत में लिया जा सका। कमिश्नर आनंद ने बताया कि पुलिस सभी नाबालिगों के माता-पिता को गिरफ्तार करने के बारे में सोच रही है, लेकिन पहले तथ्यों की पड़ताल की जाएगी।

सीसीटीवी फुटेज से आरोपियों की पहचान

वारदात के बाद पुलिस ने पब के बाहर लगे CCTV फुटेज से आरोपियों की पहचान की है। इसमें पीड़िता लड़कों के साथ जाते हुए देखी गई। पीड़िता और आरोपी शाम के वक्त पब के बाहर खड़े होकर बातें करते नजर आए। वीडियो में दिखा कि लड़की एक दोस्त को गले लगाती है, उसे विदा करती है और बाकी लड़कों के साथ लाल मर्सिडीज में चली जाती है।

Back to top button