Mumbai News: एक और मुसीबत में फंसी एक्ट्रेस कंगना रनौत, जानिए पूरा मामला


कंगना रनौत ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर लिखा था कि खालिस्तानी आतंकवादियों ने भले ही आज सरकार की बांह मरोड़ दी हो…, लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि एक महिला… केवल महिला प्रधानमंत्री ने इनको कुचल दिया था।

Mumbai News : पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित और बॉलिवड की चर्चित ऐक्ट्रेस कंगना रनौत ( Kangana Ranaut ) हमेशा किसी न किसी कारणों से सुर्खियों में बनी रहती हैं। सुर्खियों में आना लोगों के लिए रूटीनी मामला हो गया है। खास बात यह है कि उनके फैन और विरोधी उनसे संबंधित हर मामले को गंभीरता से लेते हैं। वो एक बार फिर अपने बयान को लेकर मुसीबत में आ गई हैं।

इस बार कंगना रनौत द्वारा सिखों को लेकर की गई बयानबाजी के खिलाफ मुंबई के खार पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई गई है। दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी के अध्यक्ष और शिरोमणि अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने एक वीडियो ट्वीट कर बताया है कि कंगना रनौत के खिलाफ दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी की श्किायत पर उनके खिलाफ मुंबई पुलिस ने ( Mumbai Police ) एफआईआर दर्ज की है।   

एसएडी नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने आगे कहा कि कंगना रनौत लगातार देश की आजदी के खिलाफ, सिखों के खिलाफ, किसानों के खिलाफ और किसानों का माताओं के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रही हैं। अभी कंगना रनौत के खिलाफ एफआईआर ( FIR ) दर्ज की गई है और आगे आने वाले दिनों में इस केस में उन्हें जेल जाना होगा। उन्होंने कहा कि हमने कंगना को समझाया था कि वो अपना स्टेटमेंट वापस ले लें। वह नहीं चाहते थें कि किसी औरत के खिलाफ ऐसी कार्रवाई की जाए। कंगना रनौत ने मजूबर किया कि उनके खिलाफ ऐक्शन लें और अब उनको जेल जरूर भिजवाएंगे।

इससे पहले मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा था कि कंगना का स्टेटमेंट उनकी चीप मेंटेलिटी को दर्शाता है। तीनों कृषि कानून खालिस्तानी आंदोलन के कारण वापस लिए गए। यह एक तरह से किसानों का अपमान है। वह नफरत की फैक्टरी बन चुकी हैं। हम इंस्टाग्राम पर ऐसे नफरत भरे पोस्ट करने के लिए सरकार से सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग करते हैं। कंगना की सिक्यॉरिटी और पद्म श्री को तुरंत वापस लिया जाना चाहिए। कंगना या तो जेल जाए या उन्हें मेंटल हॉस्पिटल में भर्ती कराया जाए। 
इंदिरा गांधी की तारीफ करने के बाद से नाराज हैं लोग

बता दें कि कंगना रनौत ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर लिखा था कि खालिस्तानी आतंकवादियों ने भले ही आज सरकार की बांह मरोड़ दी हो…, लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि एक महिला… केवल महिला प्रधानमंत्री ने इनको कुचल दिया था। …चाहे इससे देश को कितना भी कष्ट हुआ हो…उन्होंने अपनी जान की कीमत पर इन्हें मच्छर की तरह मसल दिया था लेकिन देश के टुकड़े नहीं होने दिए। उनके निधन के दशकों बाद आज भी उसके नाम पर कांपते हैं ये…इनको वैसा ही गुरु चाहिए। उनके इसी पोस्ट को शिकायतकर्ता ने नफरत फैलाने वाला बताया है।

Back to top button
E-Paper