यूपी : दरोगा की लूट के बाद की गई थी हत्या, बेटे ने दर्ज कराई रिपोर्ट

फर्रुखाबाद। जनपद में दरोगा की आत्महत्या के मामले में नया मोड़ आ गया है। दरोगा के बेटे ने पिता की हत्या की रिपोर्ट शहर कोतवाली में दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।
केंद्र सरकार के मंत्री शिव प्रताप शुक्ल की सुरक्षा में तैनात दरोगा तार बाबू तरुण ने जिले की सीमा पर हुल्लागंज में सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर मंगलवार को आत्महत्या कर ली थी। दरोगा फिरोजाबाद जिले के थाना टूंडला के ग्राम नगला सोना का रहने वाला था।

दरोगा के बेटे कमल कुमार ने बीती देर रात कोतवाली फर्रुखाबाद में अपने पिता की लूट के प्रयास के दौरान गोली मारकर हत्या किये जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने अपराध संख्या 1077/18 धारा 302, 394 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर मुकदमे की विवेचना इंस्पेक्टर राजेश पाठक को सौंपी है। इंस्पेक्टर ने बुधवार को बताया कि प्रकरण की गहनता से जांच की जा रही है।

दर्ज कराई रिपोर्ट में दरोगा के पुत्र कमल ने कहा है कि पुलिस लाइन में तैनात दरोगा तार बाबू तरुण पुलिस कर्मियों के साथ मंगलवार को 12ः30 बजे जनपद शाहजहांपुर बॉर्डर पर वीआईपी के आने का इंतजार कर रहे थे। उसी समय दरोगा तार बाबू लघुशंका के लिए सड़क से नीचे गए। थोड़ी देर बाद गोली चलने की आवाज आई पुलिसकर्मियों ने जाकर देखा तो तार बाबू लहुलूहान हालत में पड़े है। पुलिस ने उनको लोहिया अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

कमल कुमार ने दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा है कि जब पिता लघुशंका कर रहे थे उसी समय बदमाश लूट के इरादे से पकड़ कर ले गए। विरोध करने पर उन्हें उनकी ही रिवाल्वर से गोली मार कर हत्या कर दी और सोने की चेन लूट ले गए। इस दौरान मृतक दरोगा के भाई सोबरन सिंह भी मौजूद रहे। सोबरन सिंह भी पुलिस विभाग में दरोगा के पद पर तैनात है।

Back to top button
E-Paper