बंगाल में तेजी से बदल रही है राजनीतिक फिजा : राजनाथ सिंह

चुंचुंड़ा । हुगली जिले के चुंचुड़ा के पीपुलपाति मैदान में भारतीय जनता पार्टी की जनसभा को सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में तेजी के साथ राजनीतिक फिजा बदल रही है। राज्य में भाजपा के कार्यकर्ताओं पर अत्याचार हो रहे हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं को हिंसा का रास्ता न चुनने की नसीहत देते हुए कहा कि जो आप पर हमले कर रहे हैं, उनका नाम जरूर लिखकर रख लेना। पश्चिम बंगाल में अब भाजपा की सरकार बनने जा रही है। मुख्य वक्ता राजनाथ ने कहा कि हालत इतने बदतर हो चुके हैं कि पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र लाठीतंत्र में बदल गया है। पंचायत चुनाव में भाजपा के कार्यकर्ताओं को नामांकन करने से रोका गया। उन्होंने कहा कि यहां के भाजपा कार्यकर्ताओं का बलिदान बेकार नहीं जायेगा।

पश्चिम बंगाल का गौरवशाली इतिहास रहा है, लेकिन आज पश्चिम बंगाल को क्या हो गया है। राज्य के बारे में यह धारणा थी कि पश्चिम बंगाल जो सोचता है, वह कल भारत में घटित होता है। आज पश्चिम बंगाल के हालात तृणमूल कांग्रेस ने बदतर बना दिया है। यहां अपराधियों को प्रश्रय दिया जा रहा है। राजनाथ ने कहा कि तृणमूल मां, माटी और मानुष का नारा देकर सरकार में आई थी। लेकिन, आज पश्चिम बंगाल में मां, माटी और मानुष सुरक्षित नहीं हैं। उन्होंने कहा कि अब बंगाल में न हंसुआ-हथौड़ा रहेगा, ना तृण होगा और न मूल रहेगा। बंगाल में सिर्फ कमल खिलेगा। केन्द्र की उपलब्धियों के बारे में बताते हुए गृहमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार बनने के बाद विश्व स्तर पर भारत की इज्जत बढ़ी है। दुनिया का नजरिया भारत के प्रति बदला है। भारत विश्व में सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था है। सकल घरेलू उत्पादन में भारत का विकासदर 7.3 फीसदी तक पहुंच चुकी है जो आज तक के भारत के इतिहास में सर्वाधिक है। राजनाथ ने कहा कि आज से 50 साल पहले उद्योगों का जाल था।

लोग विभिन्न राज्यों से पश्चिम बंगाल में रोजगार के लिये आते थे। गृहमंत्री ने कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार ने केन्द्र सरकार की स्मार्ट सिटी और आयुष्मान भारत योजना को लागू नहीं किया। यहां तक कि इंफोसिस को यहां आईटी स्पेशल इकॉनॉमिक जोन स्थापित नहीं करने दिया। यहां पर लगातार सांप्रदायिक हिंसा की घटनायें घट रही हैं। वर्ष 2011 में यहां पर सांप्रदायिक हिंसा की सिर्फ 40 घटनायें हुई थी लेकिन 2014 आते-आते यहां सांप्रदायिक हिंसा के घटनाओं की संख्या बढकर 100 हो गयी। 2017 में 882 सांप्रदायिक हिंसा की घटनायें हुई हैं जिसमे 111 लोगों की जान गयी है। उन्होंने ममता बनर्जी को सलाह देते हुए कहा कि जात और पंथ के आधार पर सरकार न चालायें बल्कि इंसाफ और मानवता के आधार पर सरकार चलायें। राजनाथ ने आगे कहा कि भारत ने पूरे विश्व को ‘वसुधैव कुटुंबकम’ का सन्देश दिया है। उन्होंने रामधेनु को रंगधेनु करने पर भी ममता सरकार को घेरा। उन्होंने सभी राजनीतिक दलों से अपील की कि वे देश सरकर बनाने की राजनीति न करें।

देश बनाने की राजनीति करें। राजनाथ ने आगे कहा कि यहां दुर्गापूजा के विसर्जन की अनुमति नहीं दी जाती है लेकिन ईद और मोहर्रम की अनुमति तत्काल दे दी जाती है। गृहमंत्री ने कहा है कि कानून और व्यवस्था के हालत बदतर हो गये हैं। शिक्षक, डाक्टर, वकील प्रशासक कोई भी सुरक्षित नहीं है। कश्मीर के बाद पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक पुलिस थानों पर हमला होने की घटना हुई है। यहां पुलिस का मनोबल भी तोड़ा जा रहा है। राजनाथ ने कहा कि पश्चिम बंगाल में परिवर्तन का समय आ गया है। उन्होंने बांग्लादेश से अवैध घुसपैठ का मामला भी उठाया और कहा कि केन्द्र सरकार भारत-बांग्लादेश सीमा को सील करना चाहती है। लेकिन राज्य सरकार की ओर से सहयोग नहीं मिल रहा है। केन्द्र में पुन: सरकार बनने पर तकनीक के माध्यम से सीमा को पूरी तरह से सीज कर दिया जायेगा। राजनाथ ने कहा कि सारे देशद्रोही और समाजद्रोही तत्वों के तार या तो तृणमूल कांग्रेस या माकपा से जुड़े हुए है। राजनाथ ने आगे कहा कि भाजपा की सरकार बनने की सूरत में बम बनाने की फैक्ट्रियां बन्द हो जायेंगी।

लेकिन लोगों को रोजगार देने वाले उद्योग यहां लगेंगे। मुख्यमंत्री इवेस्टर्स समिट तो करती हैं लेकिन कोई यहां फूटी कौड़ी भी निवेश नहीं करता। उन्होंने इस दौरान केन्द्र सरकार की उपलब्धियां भी गिनवायीं। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार केन्द्र सरकार की मदद को स्वीकार नहीं कर रही है। आज पश्चिम बंगाल शारदा और नारदा कांड के लिये जाना जाता है। राजनाथ ने भाजपा सरकार बनने की सूरत में गुडों और भ्रष्टाचारियों को जिले भेजने की बात कही। इस सन्दर्भ में उन्होंने मिशेल और उसके साथियों का उदाहरण भी दिया जिनको हाल में ही पकड़कर भारत लाया गया है। उन्होंने ममता के महा गठबन्धन की खिल्ली उड़ाते हुए कहा कि महा गठबन्धन चलेगा नहीं। उन्होंने हाल में जारी हुए केन्द्र सरकार के बजट के फायदों को भी गिनवाया।

गरीबों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने पर भी अपने सरकार की पीठ थपथपायी। राजनाथ ने कहा कि भारत अब शक्तिशाली देश बन गया है। उन्होंने इस सन्दर्भ में सर्जिकल स्ट्राइक का उदाहरण दिया और कहा कि अब पाकिस्तान को जवाब देते समय भारत की ओर से गोलियां नहीं गिनी जाती।

Back to top button
E-Paper