गाजियाबाद और नोयडा में हुई बारिश और ओलो से अन्नदाता की आंखों में आया पानी

अतुल शर्मा
यूं तो कुदरत के कहर के आगे किसी की नहीं चलती है और इंसान अपनी किस्मत को कोसता हुआ आंसू बहा करके रह जाता है। लेकिन इस बार कुदरत ने किसानों पर ऐसा कहर बरपाया है कि उनके आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। हम बात कर रहे कल गाजियाबाद और नोयडा में हुई बारिश और ओलो की जिससे क्षेत्र के अन्नदाता की आंखों में पानी भर आया है। कल गाजियाबाद और नोयडा में हुई भयंकर बारिश के साथ साथ ओले पड़ने से गाजियाबाद और नोयडा के किसानों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इस बारिश और ओले से किसानों की फसल जो लगभग पक कर तैयार हो चुकी थी।
अब ये फसल पूर्ण रूप से बर्बाद हो चुकी है। किसानों का कहना है कि इस बारिश और ओले से उनकी 75% फसलें बर्बाद हो चुकी है । किसान फिर कर्ज़ के घेरे में आ गया है। तस्वीरों में आप देख सकते हैं किस प्रकार से खेतों में खड़ी सरसों, गेहूं, तंबाकू की फसल बारिश होने के कारण बैठ गई है और बर्बाद भी हो गई है ।
किसान ओले और बारिश की मार से शायद अपनी किस्मत को कोस रह है ।अब किसानों को अपनी फसल बर्बाद होने के बाद अपने बच्चों की रोजी-रोटी और पढ़ाई की चिंता सताने लगी है।
Back to top button
E-Paper