चूहे ‘केले’ की महक मिलते ही आ जाते हैं टेंशन में ! आइए जानते हैं इसके पीछे का कारण

नई दिल्ली (ईएमएस)। चूहों के बारे में एक अजीब बात पता चली है कि वे केले की महक से डर जाते हैं। क्यूबेक में मैकगिल यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने ये अनोखी बात दुनिया के सामने रखी है। शोधकर्ताओं ने रिसर्च में बताया है कि चूहों में स्ट्रेस हॉर्मोन होता है। इस बात का पता वैज्ञानिकों को इत्तेफाक से चला। वे प्रेगनेंट और ब्रेस्टफीड कराने वाली चुहियों पर एक प्रयोग कर रहे थे।

इसी दौरान उन्हें पता चला के चुहिया के मूत्र में एन पेंटाइल एसीटेट नाम का कंपाउंड होता है, जिसकी वजह से चूहों के हॉर्मोन में बदलाव होता है। रिसर्च के मुख्य लेखक जेफरी मोगिल का कहना है कि उन्हें अचानक ही इस बात का पता चला। शोध के मुताबिक वर्जिन नर चूहे शिशु हत्या जैसी आक्रामकता के लिए जाने जाते हैं। ऐसे में चुहिया अपने बच्चों को बचाने के लिए शरीर से मूत्र के ज़रिये रासायनिक उत्सर्जन करती है और इस महक को सूंघक नर चूहे उससे दूर हो जाते हैं। केले में भी ठीक वैसी ही महक पैदा करने वाला कैमिकल पाया जाता है। ऐसे में ये उनके तनाव के स्तर को बढ़ा देता है।

वैज्ञानिकों ने इस बात की पुष्टि के लिए केले का तेल लिया, जो बिल्कुल चुहिया के मूत्र की तरह महक रहा था। उन्होंने इसे रुई में लगाकर चूहों के पिंजरे में रख दिया। जैसे ही चूहों ने इसे सूंघा, उनके तनाव का स्तर काफी हद तक वैसा ही बढ़ गया, जैसे चुहिया के मूत्र के पास जाकर बढ़ता है। तनाव का ये स्तर ज्यादातर वर्जिन नर चूहों में ही बढ़ा था, यानि अगर चूहों के पास केले की महक पहुंचे तो नर चूहे तो उस जगह पर रह ही नहीं पाएंगे। बता दें कि घर में अगर एक भी चूहा दिख जाए, तो हमें बिल्कुल अच्छा नहीं लगता। चूहे हमारे घर में गंदगी करते हैं, कई बार तो बडा सा नुकसान भी कर देते हैं।

Back to top button