सीतापुर : नदियों में गिरने वाले नालों पर लगाए रोक

सीतापुर। मुख्य विकास अधिकारी अक्षत वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में शुक्रवार को जिला वृक्षारोपण समिति, जिला गंगा समिति व जिला पर्यावरण समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देश दिये की गढ्डा खुदाई का कार्य बरसात से पहले पूर्ण कर लिया जाये तथा गढ्डा खुदाई होने के पश्चात संबंधित अधिकारी उसका निरीक्षण कर सूची तैयार कर लें। उन्होंने कहा कि जितने पौधों का वृक्षारोपण होना है उतने ही गढ्डों की खुदाई करायी जाये।

इसके पश्चात लगाये गये पौधों का सत्यापन करते हुये फोटोग्राफ उपलब्ध करायी जायें तथा लगाये गये पौधों की जियोटैगिंग भी करायी जायी। उन्होंने कहा कि शासनादेश के अनुसार शतप्रतिशत वृक्षारोपण किया जाना है सभी तैयारियां समय रहते पूर्ण कर ली जायें। जिला वृक्षारोपण समिति, जिला गंगा समिति व जिला पर्यावरण समिति की बैठक में सीडीओ ने दिए निर्देश

जिला पर्यावरण समिति की बैठक की समीक्षा के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने अधिशासी अधिकारियों से जानकारी ली कि कितने प्रोजेक्टों पर कार्य पूर्ण हो चुका है और कितनों पर अभी कार्य शेष बचा है। उन्होंने ड्रेन की स्थिति के बारे में जानकारी लेते हुये सारी सूचनाओं के प्रारूप को अद्यतन करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। जिला गंगा समिति की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि नदियों को स्वच्छ रखना ही हमारी प्राथमिकता है, जो भी नाले नदी में गिर रहे हैं उनको रोका जाये ताकि नदियों का पानी दूषित होने से बचे।

उन्होंने निर्देश दिये कि जितने गांव ओ0डी0एफ0 घोषित हो गये है उसकी सूची तैयार कर लें तथा पूर्ण हो चुके सामुदायिक शौचालय की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि नदी के किनारे साफ-सफाई रखी जाये तथा नदी के किनारे जितने भी गांव है उनका कूड़ा कचरा नदी में न फेका जाये यह सुनिश्चित किया जाये।

पंचायत में कितनी ड्रेन है कितने तालाब है आदि की सूचना उपलब्ध करायी जाये। ड्रेन का गन्दा पानी कहा गिर रहा है के बारे में जानकारी लेते हुये त्वरित निस्तारण के निर्देश भी दिये। बैठक के दौरान प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी प्रभाग बृजमोहन शुक्ला, संबंधित अधिशासी अधिकारी सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Back to top button